मरवाही विधानसभा उपचुनाव : मैदान से बाहर होने के बाद भी जोगी कांग्रेस की हो रही है चर्चा

विप्लव गुप्ता, पेण्ड्रा। मरवाही उपचुनाव में जनता कांग्रेस जोगी के सभी उम्मीदवारों का नामांकन रद्द होने के बाद भी अब तक कांग्रेस को जोगी का भूत सता रहा है. जहां जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने जोगी कांग्रेस को खत्म हो गई पार्टी बता रहे हैं, और उनके तीन विधायकों को कांग्रेस के संपर्क में होने की बात कह रहे हैं, जिसके बाद अमित जोगी ने चुटकी लेते हुए उन्हें मरवाही चुनाव की चुनौती पर ध्यान देने की सलाह दे दी.

लगातार गांव-गांव प्रचार की कमान संभाल रहे कैबिनेट मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि जोगी कांग्रेस का जिले में और मरवाही विधानसभा में पूरा तरीके से सफाया हो चुका है. 90% लोग कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं, और जितने बचे हुए हैं, वह भी लगातार कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं. आज भी जोगी कांग्रेस के सेक्टरों बूथ प्रभारी कार्यकर्ता कांग्रेस में शामिल हुए हैं. इन सभी को निर्देश था कि भारतीय जनता पार्टी का काम करो, लेकिन यह सब मूलतः कांग्रेसी है. चुनाव में अभी सप्ताह भर है, इसमें भाजपा बुरी तरीके से हारेगी और जोगी कांग्रेस का नाम लेने वाला भी कोई नहीं बचेगा.

जोगी कांग्रेस के विधायकों पर बात करते हुए जैसे अग्रवाल ने कहा कि जोगी कांग्रेस के चार विधायक प्रदेश में हैं, जिसमें से तीन कांग्रेस में आना चाहते हैं, लेकिन यह फैसला हाईकमान का है. उनके नाम पूछे जाने पर जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि 4 में से 3 हैं, अब आप खुद ही समझ जाइए. वहीं कांग्रेस विधिक विभाग द्वारा जोगी कांग्रेस पार्टी की शिकायत पर कहा कि जिस पार्टी का कोई प्रत्याशी नहीं है. सुबह चुनाव के समय में कांग्रेस को बदनाम करने की और भाजपा को समर्थन देने की मंशा से लोगों के बीच जा रही है, इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग को की गई है.

जयसिंह अग्रवाल के बयान के बाद छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी के अध्यक्ष अमित जोगी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि गनीमत है कि जयसिंह अग्रवाल ने 4 में से 3 ही कहा. चारों विधायकों को कांग्रेस में शामिल नहीं किया. अमित जोगी ने कहा कि मैं तो उन्हें एक ही मशविरा दूंगा कि अभी मरवाही विधानसभा के चुनाव सामने है, उस पर ध्यान दें. वही प्रचार करने से रोके जाने पर निर्वाचन आयोग से की गई शिकायत के बारे में अमित जोगी ने कहा कि भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है कि किसी मान्यता प्राप्त दल को सिर्फ इसलिए प्रचार करने से रोका जा रहा है, क्योंकि उनके प्रत्याशियों का नामांकन बंद कमरे में रद्द कर दिया गया. क्या जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ आतंकवादी या प्रतिबंधित संगठन है जो प्रचार नहीं कर सकती. जय सिंह चुनाव पर्यवेक्षक हैं, और जैसे जो कांग्रेस के मंत्री हैं. दोनों में कोई फर्क नहीं है.

नेताम ने बताया कांग्रेस को हर मोर्चे पर फेल

मरवाही उपचुनाव में भाजपा के प्रत्याशी डॉक्टर गंभीर सिंह के पक्ष में चुनावी जनसंपर्क करने राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम ने अपनी सभाओं में कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला बोले बोलते हुए उसे हर मोर्चे पर विफल बताया. जनसंपर्क के दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए रामविचार नेताम ने कहा कि भाजपा का प्रत्याशी मजबूत व कर्मठ है, और मरवाही क्षेत्र में हमारे प्रत्याशी को भरपूर समर्थन प्राप्त हो रहा है. वही कांग्रेस आड़े हाथों हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस ने 2 सालों में लोगों के विश्वास से कुठाराघात किया है. केंद्र सरकार की सभी योजनाएं क्षेत्र में बंद हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस डरी और सहमी हुई है, इसलिए मंत्रियों व विधायक की फौज उतार दिए है, लेकिन इससे फर्क पड़ने वाला नही है वोट तो मरवाही की जनता देगी.मै

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।