Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

अमृतसर, पंजाब। अमृतसर के सरकारी गुरुनानक देव अस्पताल में शनिवार को भीषण आग लग गई, लेकिन एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया, क्योंकि मरीजों और उनके तीमारदारों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. इमारत की तीन मंजिलें क्षतिग्रस्त हो गई हैं, लेकिन अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि घटना में कोई घायल नहीं हुआ है. मुख्यमंत्री भगवंत मान ने घटना पर दुख जताया है और कहा है कि वह राहत कार्यों की निगरानी कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: दिल्ली अग्निकांड: फैक्ट्री मालिक के पिता की भी मौत, CM केजरीवाल पहुंचे मुंडका, मृतकों के परिजनों के लिए 10-10 लाख के मुआवजे का किया ऐलान, मजिस्ट्रियल जांच के भी आदेश

मरीजों को तुरंत निकाला गया

अमृतसर मेडिकल कॉलेज कैंपस में स्थित गुरु नानकदेव अस्पताल (GNDH) में आग लगने से अफरातफरी मच गई. एक्स-रे यूनिट के पीछे की ओर रखे दो ट्रांसफार्मरों में धमाके के बाद आग की ऊंची लपटें उठने लगीं. आग के कारण चारों तरफ धुआं ही धुआं फैल गया. अस्पताल के वार्डों में भर्ती 650 मरीजों को बाहर निकालकर सड़कों पर लाया गया. फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है. बता दें कि आज शनिवार होने के कारण ओपीडी में मरीज नहीं छे, लेकिन अस्पताल के वार्डों में करीब 650 मरीज भर्ती हैं. OPD के पिछली ओर और एक्स-रे यूनिट के पास दो ट्रांसफार्मर लगे हैं. इनसे पूरे अस्पताल को बिजली सप्लाई हो रही है. दोपहर के समय इन ट्रांसफार्मरों में अचानक ब्लास्ट हुआ और आग लग गई. धुएं के कारण मरीजों का दम घुटने लगा. उन्हें तुरंत बाहर निकाला गया. मौके का जायजा लेने के लिए केंद्रीय मंत्री हरभजन सिंह ईटीओ भी मौके पर पहुंचे. फिलहाल अब बिजली को दोबारा से शुरू करने के प्रयास में अस्पताल प्रशासन जुटा है. इधर सीएम भगवंत मान ने आग पर चिंता जताई है. हालांकि उन्होंने कहा कि ये राहत कि बात है कि कोई जनहानि नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें: खतरे की घंटी: पंजाब में खालिस्तानी समर्थक सक्रिय, स्लीपर सेल को भी किया जा रहा एक्टिव, हवाला चैनल के माध्यम से जुटाया जा रहा धन, ISI का सीधा कनेक्श

">
Share: