मेडिकल bulletin video : विश्व में 200 कंपनियां वैक्सीन की खोज में…! देखिए कोरोना से जुड़ी प्रमुख ख़बरें…

शिवम मिश्रा, रायपुर। मेडिकल बुलेटिन में आज विश्व के आँकड़े, भारत मे तेज होती रफ्तार, वैक्सीन की खोज में 200 कंपनियां, जीएसटी कौंसिल निर्णय जैसी प्रमुख ख़बरें हैं. पूरी ख़बर चंद मिनट में नीचे लिंक क्लिक कर देखिए.

Close Button

एक्टिव केस की संख्या 50 लाख के पार

कोरोना महामारी दुनियाभर में काबू में नहीं आ रही है. हर दिन दो लाख से ज्यादा कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है. दुनिया में पिछले 24 घंटे में 2 लाख 32 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं और 5 हजार लोगों की मौत हो गई. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनिया में 1 करोड़ 36 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं, जबकि मरने वालों की संख्या 5 लाख 86 हजार के पार पहुंच गई है. राहत की बात ये है कि ठीक होने वालों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है और अबतक 80 लाख से ज्यादा लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं. दुनियाभर में अभी भी 50 लाख एक्टिव केस हैं और इनका इलाज जारी है.

विश्व में 200 कंपनियां वैक्सीन की खोज में लगी

कोरोना को मात देने वाली वैक्सीन कब आएगी, ये सवाल हर किसी के मन में है. क्योंकि कोरोना का एकमात्र इलाज सिर्फ इसकी वैक्सीन ही है. दुनिया में इस वक्त 200 कंपनियां कोरोना वायरस की वैक्सीन खोजने में लगी हैं. भारत में भी 30 कंपनियां वैक्सीन बनाने का दावा कर रही हैं. वैक्सीन बनाने के लिए दुनिया के तमाम देश बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं. दुनिया की 138 कंपनियां प्री क्लीनिकल स्टेज पर वैक्सीन का ट्रायल कर रही हैं. फेज-1 में 17 कोरोना वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है. फेज-2 में 9 वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है और तीन वैक्सीन का ट्रायल फेज-3 में चल रहा है. इनमें से वैक्सीन बेचने की मंजूरी किसी को नहीं मिली है. मार्केट में वैक्सीन सेल करने की मंजूरी लेने के लिए इन्हें फेज-6 तक पहुंचना होगा.

भारत में कोरोना वायरस ने पकड़ी रफ्तार

दुनियाभर में कहर बरपाने वाले कोरोना वायरस ने भारत में अब विकराल रूप ले लिया है. देश में अब हर रोज 30 हजार से अधिक केस सामने आ रहे हैं, यानी हर चौथे दिन में आंकड़ा करीब एक लाख केस तक बढ़ रहा है. इस बीच जैसी रफ्तार चल रही है उस हिसाब से आज देश में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या दस लाख को पार कर जाएगी. यानी भारत दुनिया में ऐसा तीसरा देश बन जाएगा, जहां कुल मामलों की संख्या 10 लाख से अधिक होगी. बता दे की अभी अमेरिका और ब्राजील में ही इससे अधिक केस हैं. बुधवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, 24 घंटे में देश में कुल 32 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं, और 600 से अधिक लोगों की मौत हुई है.

जीएसटी कौंसिल करेगी निर्णय

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सरकार द्वारा हैंड सैनिटाइजर पर 18 फीसदी वस्तु एवं सेवा कर (GST) लगाने पर कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहे हैं. इस बीच वित्त मंत्रालय ने दावा किया है कि अगर इसे घटाया जाता है तो इससे सरकार के आत्मनिर्भर अभियान को चोट पहुंचेगी और उपभोक्ताओं का भी इससे खास फायदा नहीं होगा. वित्त मंत्रालय ने कहा, ‘अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर पर जीएसटी रेट के बारे में मीडिया में खबरें आई हैं. सैनिटाइजर को साबुन, एंटी बैक्टीरियल लिक्विड, डेटॉल आदि की तरह ही कीटाणुनाशक वर्ग में रखा जाता है. विभिन्न वस्तुओं पर कितना जीएसटी लगना है यह जीएसटी कौंसिल के द्वार तय किया जाता है जहां केंद्र सरकार और सभी राज्य सरकारें मिलकर निर्णय करती हैं.

महाराष्ट्र, दिल्ली, तेलंगाना, गुजरात में स्थिति विस्फोटक

भारत में कोरोना वायरस के लिए जिस तेजी से टेस्टिंग बढ़ रही है, संक्रमितों का आंकड़ा भी उसी तेजी से बढ़ रहा है. देश में अबतक सवा करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग हो चुकी है. हर दिन 3 लाख से ज्यादा लोगों की टेस्टिंग की जा रही है. यही वजह है कि महाराष्ट्र, तेलंगाना, दिल्ली, गुजरात, तमिलनाडु में स्थिति विस्फोटक होती दिख रही है. वहीं बिहार, कर्नाटक में भी हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं. यहां कोरोना टेस्टिंग में पांच फीसदी से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं. इन पांच राज्यों के अलावा बिहार और कर्नाटक में भी हालत बिगड़ रहे हैं. बिहार में 3 लाख 37 हजार से ज्यादा टेस्ट हुए हैं, जिसमें से 20 हजार से अधिक कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. यानी कि 5.98 फीसदी मामले पॉजिटिव आए हैं. ऐसे ही कर्नाटक में भी 5.23 फीसदी मामले पॉजिटिव हैं.

देखिए मेडिकल बुलेटिन

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।