मेडिकल bulletin video : हॉस्पिटल बना कोरोना मरीज़ों की मौत का सेंटर ! देखिए कोरोना वायरस से जुड़ी प्रमुख ख़बरें..

रायपुर। मेडिकल बुलेटिन में आज भारत में कोरोना के आँकड़े, विधायक की मौत, अस्पातल में होती मौतें, जवानों फैलता संक्रमण जैसी प्रमुख ख़बरें हैं. पूरी ख़बर यहाँ पढ़ सकते हैं नीचे लिंक कर देख सकते हैं मेडिकल बुलेटिन.

Close Button

भारत में कोरोना का आँकड़ा 4.50 लाख के पार

भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार कम होने का नाम नहीं ले रही है. देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या साढ़े 4 लाख के पार हो गई है, जबकि अभी तक 14 हजार 476 ने जान गंवाई है.केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 15 हजार 968 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 465 लोगों की मौत हुई है. कुल संख्या 4 लाख 56 हजार 183 हो गई है. जिनमें से 1 लाख 83 हजार 22 सक्रिय मामले हैं. राहत की बात यह है कि इस महामारी से 2 लाख 58 हजार 685 लोग ठीक हो चुके हैं.

हॉस्पिटल बना कोरोना मरीज़ों की मौत का सेंटर

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई कोरोना संक्रमण का केन्द्र बनी हुई है. शहरों के मामले में देश में सबसे ज्यादा कोरोना से मौत मुंबई में ही हुई हैं. मुंबई के जाने माने सरकारी अस्पताल KEM में पिछले 36 दिनों में 460 लोगों की मौत होने से मरीजों के परिजनों में दहशत है. मरीजों के परिजन इन मौतों के लिए अस्पताल में ऑक्सिजन की कमी का आरोप लगा रहे हैं.अस्पताल में पिछले 20 दिनों में 221 लोगो की मौत हुई, जबकि 15 मई से अब तक कुल 460 मौतें इसी अस्पताल में हुई हैं. इतने कम दिनों में सबसे ज्यादा मौत इसी अस्पताल में होने की वजह से ये आरोप लग रहे है की ऑक्सिजन की कमी की वजह से मौतें हो रही है. यहां 1 मई से लेकर 31 मई के बीच औसतन 15 मरीज की प्रतिदिन मौत हुई है, जिसके मुताबिक कुल 240 लोगों की मौत दर्ज की गई जबकी एक जून से 20 जून तक 221 मौत दर्ज की गई.

एक-एक व्‍यक्ति का होगा टेस्‍ट

देश की राजधानी में कोरोना संक्रमण को काबू करने के लिए बड़े पैमाने पर स्‍क्रीनिंग प्रॉसेस शुरू हो रहा है. सीएम अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, 30 जून तक कंटेनमेंट जोन्‍स के सभी घरों की स्‍क्रीनिंग कर ली जाएगी. 6 जुलाई तक दिल्‍ली के हर एक घर को स्‍क्रीन करने का प्‍लान है. यह कवायद नए कोविड रेस्‍पांस प्‍लान के तहत है जो केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह संग सीएम की पिछले हफ्ते हुई बैठकों में बना. दूसरी तरफ, ICMR ने अपनी कोविड-19 टेस्टिंग स्‍ट्रैटजी बदल दी है. अब ‘देश हर हिस्‍से में सभी सिम्‍प्‍टोमेटिक व्‍यक्तियों’ को टेस्‍ट करने का फैसला किया गया है. अभी तक सिम्‍प्‍टोमेटिक केसेज की टेस्टिंग होती थी मगर उसके लिए कई नियम थे. जैसे- अस्‍पतालों, कंटेनमेंट जोन्‍स और हॉटस्‍पॉट्स में रहने वालों, कन्‍फर्म केस के कॉन्‍टैक्‍ट्स, हेल्‍थकेयर वर्कर्स और इंटरनैशनल ट्रेवल हिस्‍ट्री वालों की टेस्टिंग हो रही थी. अब लक्षण दिखने पर कोरोना टेस्‍ट कराया जा सकता है.

छत्तीसगढ़ में जवानों में फैला संक्रमण

छत्तीसगढ़ में सुरक्षा बल के जवानों में कोरोना संक्रमण का प्रकोप बढ़ते ही जा रहा है. सुकमा, बीजापुर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा में जवानों के संक्रमित होने के बाद अब बड़ी संख्या में कांकेर में तैनात सुरक्षाबल के जवान कोरोना संक्रमित मिले हैं. कांकेर जिला चिकित्सा अधिकारी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक बीएसएफ के 15 जवान कोरोना संक्रमित पाए गए है. इसमें  अंतागढ़ में कैंप में 5 जवान और बांदे कैंप में तैनात 10 जवान शामिल हैं. सभी जवान छुट्टी से वापस कैंप लौटे थे.

पंजतिल दवा कंपनी को नोटिस

कोरोना वायरस के लिए पतंजलि द्वारा निर्मित कोरोनिल दवाई लॉन्च होते ही विवादों में घिर गई है. मंगलवार शाम स्वामी रामदेव और आचार्य बालकृष्ण द्वारा दवाई लॉन्च किए जाने के बाद भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने दवाई के प्रचार प्रसार पर रोक लगा दी थी. इसके बाद बुधवार को बाबा रामदेव की दवा को एक और झटका लगा है. इस बार उत्तराखंड की आयुर्वेद ड्रग्स लाइसेंस अथॉरिटी ने बाबा की दवा पर सवाल उठाया है. अथॉरिटी के उपनिदेशक यतेंद्र सिंह रावत ने बताया कि बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि को कोरोना की दवा के लिए नहीं, बल्कि इम्युनिटी बूस्टर और खांसी-जुकाम की दवा के लिए लाइसेंस जारी किया गया था.

टीएमसी विधायक तमोनाश घोष का निधन

पश्चिम बंगाल में तृणमूल विधायक तमोनाश घोष का कोरोना वायरस से निधन हो गया. तमोनाश घोष मई के महीने में कोविड 19 वायरस से संक्रमित पाए गए थे. उनका कोलकाता के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था. बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली. उनके निधन की खबर पर ममता बनर्जी से लेकर राज्य के कई बड़े नेताओं ने शोक व्यक्त किया है.तृणमूल कांग्रेस के विधायक 60 साल के थे. वह दक्षिण 24 परगना के फालता विधानसभा से तीन बार के विधायक थे. डॉक्टरों ने बताया कि तमोनाश घोष को पहले से दिल और किडनी समेत कई बीमारियां थीं. कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद से उनकी हालत और बिगड़ती गई. बीते दिनों से वह वेंटिलेटर पर थे लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका.

देखिए मेडिकल बुलेटिन

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।