Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

रायपुर. सीएम बघेल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत कोरिया के बैकुंठपुर दौरे पर हैं. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जहां भी जाते हैं, वहां बच्चों के साथ एकरंग हो जाते हैं. चाहे स्वामी आत्मानंद स्कूल हो या जनचौपाल, हर जगह बच्चे भी अपने बीच मुख्यमंत्री को पाकर उनके साथ बात करने और सेल्फी लेने आतुर रहते हैं. ऐसी ही एक और तस्वीर सामने आई है, जिसमें भूपेश बघेल बच्ची को गोद में लेकर प्यार करते नजर आ रहे हैं. बच्ची के जीभ निकालने पर मुख्यमंत्री बघेल ने भी जीभ आगे कर नन्हीं गरिमा का खूब साथ दिया.

बता दें कि, मुख्यमंत्री हर जगह न सिर्फ बच्चों की भोली फरमाइशों को पूरा करते हैं, बल्कि बच्चों के साथ उनके खेल और शरारतों में भी शामिल होते हैं. एक बार फिर ऐसा ही कुछ नजारा पोंड़ी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में देखने को मिला. वैसे तो मुख्यमंत्री स्वास्थ्य केंद्र की व्यवस्थाओं का जायजा लेने गए थे, मगर वहां उनकी नजर परिचायिका कक्ष में स्टाफ नर्स उनिता सिंह की गोद में बच्ची गरिमा पर पड़ी. नन्हीं गरिमा को देख मुख्यमंत्री उसके नजदीक पहुंचे और गरिमा को गोद में उठा लिया. उसके बाद मुख्यमंत्री ने बच्ची को खूब प्यार से दुलारा.

मुख्यमंत्री बघेल ने उनिता से पूछा कि बच्ची कितने महीने की है. उनिता ने उन्हें बताया कि गरिमा अभी 7 महीने की है. आमतौर पर बच्चे अपनी मां की गोद से अलग होने पर रोने लगते हैं. मगर मुख्यमंत्री की गोदी में नन्हीं गरिमा ऐसे सहज हो गई जैसे किसी अपने ने प्यार से गोद में उठा लिया हो. गरिमा ने जीभ निकालकर भोली शरारत की तो मुख्यमंत्री भी खुद को रोक नहीं पाए.

मुख्यमंत्री ने भी जीभ आगे कर नन्हीं गरिमा का खूब साथ दिया. मुख्यमंत्री ने मम्मी की ड्यूटी पर साथ आई नन्ही गरिमा को प्यार करते हुए उससे पूछा- बड़े होकर क्या बनोगी ! उसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा- ये भी डॉक्टर बनेगी ! मुख्यमंत्री के इस बालसुलभ अंदाज ने सभी का दिल जीत लिया. मुख्यमंत्री ने बच्ची के उज्ज्वल भविष्य के लिए उनिता को शुभकामनाएं देते हुए बच्ची की देखभाल करते हुए कर्तव्य पालन करने के लिए उनिता की सराहना की.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
लल्लूराम डॉट कॉम की खबरें English में पढ़ने यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक