मोदी-शाह के विजयी भाषण से सेना-राष्ट्रवाद-सर्जिकल स्ट्राइक गायब, श्रीकृष्ण का जिक्र, चौकीदार शब्द भी हटा!

रायपुर। लोकसभा चुनाव 2019 में मिली बड़ी जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने देश ने बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलने पर पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. दोनों ने ही अपने संबोधन में देशवासियों को धन्यवाद किया. मोदी ने कहा कि देश के नागरिकों ने इस फकीर की झोली को भर दिया. वहीं शाह ने मोदी को महाविजय के महानायक बताया और देश की सवा सौ करोड़ जनता का अभिनंदन किया.

लेकिन मोदी-शाह ने जीत के बाद भाजपा कार्यालय में अपने विजयी भाषण में कहीं भी सेना, राष्ट्रवाद और सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र तक नहीं किया. जिसकी बदौलत बीजेपी ने इतनी बड़ी जीत दर्ज की है. जबकि मोदी चुनावी सभाओं में अपने भाषणों में राष्ट्रवाद से लेकर सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक और पाकिस्तान के घर में घुसकर मारने की बात कहते रहे. पर मोदी ने अपने पहले भाषण में कहीं भी इसमें से किसी का भी का जिक्र नहीं किया . और तो और मोदी ने अपने नाम के आगे से चौकीदार शब्द भी अब हटा लिया है.

बता दें कि जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद नरेंद्र मोदी तीसरे शख्स हैं, जो लगातार दूसरी बार बहुमत की सरकार बनाने जा रहे हैं. मोदी लहर की वजह से विपक्ष पूरी तरह फिस्सड़ी साबित हुई है. भाजपा ने अकेले 303 सीट लाया है और गठबंधन के साथ 352 सीट लाने में सक्षम रही है.

जानिए क्या कहा मोदी ने अपने पहले संबोधन में ….

पीएम मोदी ने बीजेपी कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम देशवासियों के पास नए भारत के लिए जनादेश लेने गए थे, आज हम देख रहे हैं कि देश के नागरिकों ने इस फकीर की झोली को भर दिया. मैं भारत के 130 करोड़ नागरिकों का सिर झुकाकर नमन करता हूं. 2019 के मतदान का आंकड़ा अपने आप में लोकतांत्रिक विश्व के इतिहास की सबसे बड़ी घटना है. देश आजाद हुआ, इतने लोकसभा के चुनाव हुए लेकिन आजादी के बाद पहली बार सबसे ज्यादा मतदान इस चुनाव में हुआ है. जब महाभारत का युद्ध समाप्त हुआ, तब श्रीकृष्ण से पूछा गया कि आप किसके पक्ष में थे. उस समय महाभारत के काल में श्रीकृष्ण ने जो जवाब दिया था, वो 2019 के इस चुनाव में हिंदुस्तान के 130 करोड़ नागरिकों ने श्रीकृष्ण के रूप में जवाब दिया है. श्रीकृष्ण ने जवाब दिया था, मैं किसीके पक्ष में नहीं था, मैं हस्तिनापुर के पक्ष में खड़ा था और आज देश के नागरिकों ने श्रीकृष्ण के रूप में भारत के लिए मतदान किया. इस चुनाव में मैं पहले दिन से कह रहा था कि ये चुनाव कोई दल, कोई उम्मीदवार, कोई नेता नहीं लड़ रहा है ये चुनाव देश की जनता लड़ रही है. जिनके आंख कान बंद थे, उनके लिए मेरी बात समझना मुश्किल था. लेकिन आज मेरी भावना को जनता जनार्दन ने प्रकट कर दिया है. इसलिए कोई विजयी हुआ है तो हिंदुस्तान हुआ है, लोकतंत्र हुआ है.

अमित शाह ने कहा- महाविजय का महानायक हैं मोदी

अमित शाह ने कहा कि बीजेपी की महाविजय के महानायक हैं पीएम मोदी. आजादी के बाद देश में ऐतिहासिक विजय मोदीजी के नेतृत्व में बीजेपी को हासिल हुई है. इस ऐतिहासिक विजय के लिए बीजेपी की ओर से देश की सवा सौ करोड़ जनता का अभिनंदन. ये विजय देश की जनता और बीजेपी के बूथ से लेकर हर कार्यकर्ता की है. ये विजय पीएम मोदी की लोकप्रियता की विजय है. मोदी सरकार ने 2014 से 2019 तक जिन नीतियों पर काम किया, ये सबका साथ सबका विकास की विजय है. पांच साल के अंदर नरेंद्र मोदी सरकार ने देश के 28 करोड़ गरीब परिवारों का जीवन स्तर उठाने के लिए सरकार के जरिए आजादी के 70 साल के बाद पहली बार सार्थक कदम उठाए. उनका जनसमर्थन हमारी विजय का संबल बना है.करोड़ों कार्यकर्ताओं ने इतने लंबे चुनाव अभियान के अंदर जो परिश्रम की पराकाष्ठा की वो हमारे विजय का कारण बना. मोदी जी ने जो प्रचंड लोकप्रियता के साथ देश का तूफानी दौरा किया वो हमारी जीत का आधार बनकर प्रचंड विजय बना. कई मायने में ये जीत एतिहासिक जीत है. देश भर के अंदर 17 राज्य ऐसे हैं, जहां कांग्रेस को जीरो मिला है. आंध्र प्रदेश, अरुणाचल,  दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, मणिपुर, मिजोरम, ओडिशा, राजस्थान, सिक्किम, त्रिपुरा, उत्तराखंड, अंडमान-निकोबार, चंडीगढ़, दादर नागर हवेली, दमन दीव और लक्षद्वीप में कांग्रेस अपना खाता नहीं खोल पाई. ये जीत एक और भी बात तय करती है कि 50 साल से कांग्रेस और विपक्षी पार्टियां परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टिकरण का वोटबैंक बनाकर आगे बढ़ते थे.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।