कोरोना वैक्सीन को लेकर जल्दबाजी करने से बेहतर है कि सही दवा का करें चुनाव – टीएस सिंहदेव

ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हुए शामिल मंत्री सिंहदेव

रायपुर। ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने शामिल हुए. कोरोना संक्रमण की परिस्थिति और कोरोना वैक्सीन पर हुई चर्चा में सिंहदेव ने अपने विचार रखे, उन्होंने कोरोना वैक्सीन के इंतजार में बैठना की बजाए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने पर भी ध्यान देने की बात कही.

मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि कोरोना वैक्सीन ही केवल कोरोना का उपचार नहीं है, बल्कि इतने समय से यह संक्रमण हमारे बीच है, और हम इससे लड़ने के लिए सावधानी बरत रहे हैं. नियमित रूप से हाथ धोना, मास्क पहनना और शारीरिक दूरी बनाकर रखना भी कोरोना की दवा के समान ही है. इतने समय तक कोरोना से लड़ने में हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर्याप्त रही है. उन्होंने कहा कि भारत विश्व में दवाओं के सबसे बड़े उत्पादकों में शामिल है. हमारे लिए दवा का उत्पादन इतनी चिंता का विषय नहीं है, जितना दवा को देश के कोने-कोने तक पहुंचाना है.

उन्होंने कहा कि इस दौर में विश्व की अलग-अलग कंपनियां दवा बनाने में लगी हुई हैं और इससे प्रतिस्पर्धा भी बढ़ी है, इस दवाओं के बाजार में हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि अभी तक किसी भी दवा को कोई भी वैज्ञानिक आधार नहीं मिला है. उन्होंने आगे कहा कि दवा के वितरण से पूर्व हमें धैर्यपूर्वक यह निर्धारित करना होगा कि कौन सी दवा हमारे देशवासियों के लिए सबसे बेहतर है, जहाँ एक ओर कुछ दवा के लिए -70℃ तापमान का वातावरण निर्धारित है वहीं कुछ दवाएं ऐसी भी हैं जो हमारे देश की स्थिति के अनुकूल नहीं हैं.

मंत्री सिंहदेव ने कहा कि हमें यह मानकर चलना होगा कि फरवरी के अंत तक कोरोना की वैक्सीन बाजार में उपलब्ध होगी और उस समय तक हमें कोविड प्रोटोकॉल पर चलना होगा, इसके साथ ही सरकारों को यह निर्धारित करना होगा कि किस वर्ग (आयुसीमा, कमजोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता आदि) को वैक्सीन पहले दी जायेगी. हमें फ्रंटलाइन और हेल्थ वर्कर्स को सबसे पहले प्राथमिकता देने की आवश्यकता है, देश के सभी लोगों को वैक्सीन देने की इस पूरी प्रक्रिया में 6 महीने से 3 सालों तक का समय लगेगा. जिस समय में धैर्य और संयम के साथ ही पूर्व निर्धारित योजना भी अत्यंत महत्वपूर्ण रहेगी.

इस चर्चा में वरिष्ठ वैज्ञानिक लेखक धनंजय नवांदर, पूर्व सांसद एमवी राजीव गौड़ा, शाम्भवी नायक एवं राहुल सिंघवी,सलमान सोल, क्षतिज चंद्राकर (प्रदेश अध्यक्ष) ऐश्वर्या सिंह देव (सचिव),प्रत्युष भरध्वज(उपाध्यक्ष), दीप सारस्वत(प्रदेश संयोजक) उपस्थित रहे.

loading...

Related Articles

loading...
Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।