BREAKING : विधायक भीमा मंडावी हत्याकांड में एनआईए ने तीन लोगों को किया गिरफ्तार, जानिए हत्याकांड में क्या थी इनकी भूमिका…

रायपुर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने विधायक भीमा मंडावी की हत्या के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर आज जगदलपुर स्थित एनआईए की विशेष अदालत में पेश किया, जहां से सात दिनों के रिमांड पर भेजा गया. तीनों आरोपी पर हमले के लिए नक्सलियों की मदद करने का आरोप है.

एनआईए ने भाजपा विधायक भीमा मंडावी के साथ चार सीएएफ के जवानों की नक्सलियों द्वारा 9 अप्रैल 2019 को की गई हत्या के मामले में मंगलवार को तीन आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की. इनमें से कोउकोंडा थाना क्षेत्र स्थित नकुलनार निवासी लक्ष्मण जायसवाल उर्फ लक्ष्मण साव पिता स्व. विष्णु साव (46 वर्ष), अरनपुर थाना क्षेत्र के काकाडी निवासी रमेश कुमार कश्यप उर्फ रमेश हेमला पिता अपू राम कश्यप (35 वर्ष) और  किरंदुल थाना क्षेत्र के तिंकापाल निवासी कुमारी लिंगा ताती पिता जोगा ताती (25 वर्ष) शामिल है.

मामले में कोउकोंडा थाना में 10 अप्रैल 2019 को 147, 148, 149, 302, 396, 307 और 120B भादंस के अलावा आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था. मामले में एनआईए ने 17 मई 2019 को पुन: मामला दर्ज करते हुए दो आरोपियों दंतेवाड़ा के तिकानपाल गांव के पटेलपारा निवासी भीमा ताती और मडका राम ताती को 7 अप्रैल 2020 को गिरफ्तार किया था.

जांच के दौरान इस बात का खुलासा हुआ कि नकुलनार में किराना दुकान चलाने वाले लक्ष्मण जायसवाल उर्फ लक्ष्मण साव ने माओवादियों को इलेक्ट्रिक तार, विस्फोटक और आईईडी ब्लास्ट के लिए अन्य सामग्री प्रदान की थी. वहीं आरोपी रमेश कुमार कश्यप और कुमारी लिंगे ताती ने नक्सलियों को सामनों के लाने-ले जाने में मदद की थी. इस तरह से तीनों आरोपी विधायक भीमा मंडावी और चार सुरक्षा जवानों की हत्या को अंजाम देने की साजिश में शामिल थे.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।