Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

बिलासपुर. बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय की पहल और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम की विशेष रूचि अनुसार 19 फरवरी 2020 को स्कूल शिक्षा विभाग में एक क्रांतिकारक परिवतर्न करते हुए एक नवीन योजना को प्रारंभ किया गया. इस योजना का नामकरण स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय रखा गया. इस योजना के अंतगर्त प्रदेश के सभी जिलों में प्रथम चरण में एक विद्यालय प्रारंभ किए गए. न्यायाधनी बिलासपुर ने इस चुनौती को स्वीकार कर प्रथम चरण में 2020-21 से चार नवीन विद्यालय प्रारंभ किए गए.

इनमें कुल 2568 विद्याथिर्यों ने प्रवेश लिया, इस हेतु चार विद्यालयों में कुल 121 शिक्षकों कमर्चारियों की प्रतिनियुक्ति पर पदस्थापना की गई. इन विद्यालयों में कार्यरत अतिरिक्त शिक्षक और विद्याथिर्यों ने निकट की संस्था में स्थानांतरित किया गया. विद्यालयों को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त प्रयोगशालाएं खुले मैदान, कम्यूटर लैब, स्मार्ट क्लास हेतु इन्ट्ररेक्टिव्ह बोड, शुद्व पेय जल प्रबंधन, पृथक बालक बालिका शौचालय, उच्च कोटी के पुस्तकों से युक्त ग्रंथालय अंग्रेजी माध्यम के निपुण शिक्षकों का प्रबंधन किया गया.

इस हेतु सीएसआर, डीएमएफ, समग्र शिक्षा और राज्य शासन से 586 लाख रुपए की सामग्री उपलब्ध कराई गई और अधोसंरचना विकसित की गई. कोविड की महामारी के कारण आनलाईन कक्षाओं और अन्य वचुर्वल गतिविधियों का संचालन किया गया. उत्तम परिणाम के साथ बच्चों ने श्रेष्ठ प्रदशर्न किया और अगली कक्षाओं में अपना स्थान बनाया.

शनिवार को नगर विधायक शैलेष पांडेय स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल मंगला का निरीक्षण किया, उन्होंने शिक्षा विभाग अधिकारियों को स्कूल में अतिरिक्त कक्ष, शेड, मुख्य सड़क संधारण और अधोसंरचना कार्य के लिए प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए. बिलासपुर में संचालित स्कूलों में वर्तमान स्थिति में मंगला में 890, लाला लाजपत राय में 981 तारबहार में 577 बच्चे अध्ययनरत है.

स्कूल निरीक्षण के दौरान विधायक शैलेष पांडेय ऑनलाइन कक्षा में स्कूली बच्चों से रूबरू हुए और उनके परिजनों से भी स्कूल शिक्षा और व्यवस्था के बारे में जानकारी ली. विधायक ने कहा कि गरीब बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से स्वामी आत्मानंद स्कूलों का संचालन किया जा रहा है. यहां सब्जी वाला, रिक्शा चालक, किसान, फुटपाथ विक्रेता, घर में काम करने वाली मेड, सहित गरीबों के बच्चों को गुणवत्ता युक्त अंग्रेजी माध्यम शिक्षा प्रदान की जा रही है.

अधिकारियों ने नगर विधायक को बताया कि बिलासपुर में चार नए स्वामी आत्मानंद योजना की तर्ज पर स्कूलों का उन्नयन करने प्रस्ताव भेजे जाएंगे. जिसमें तिलक नगर, दयालबंद, जरहाभाटा, देवरीखुर्द सहित तोरवा की स्कूलें शामिल है. गांधी चौक स्थित शासकीय बहुउद्देशीय उच्चतर माध्यमिक शाला (मल्टीपरपज स्कूल) को स्वामी आत्मानंद हिंदी माध्यम स्कूल के तर्ज पर उन्नयन और संचालन की स्वीकृति मिल गई है जिसके लिए डीएमएफ मद से 1 करोड़ 75 लाख रुपए की राशि भी जारी कर दी गई है.

निरीक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी एसके प्रसाद, स्वामी आत्मानंद योजना नोडल अधिकारी और सहायक संचालक संदीप चोपड़े, सहायक संचालक पी. दासरथी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता पंकज सिंह, पार्षद भारत कश्यप, रामा बघेल, श्याम पटेल, एल्डरमैन शैलेंद्र जयसवाल, काशी रात्रे, अखिलेश गुप्ता बंटी, श्याम लाल चंदानी, सुबोध केसरी, रेहान रजा, सहित संस्था प्राचार्य और शिक्षक शिक्षिकाएं उपस्थित थे.

">
Share: