विधायक विकास उपाध्याय ने मंदिरों व धार्मिक स्थलों को 1 जून से खोले जाने की मांग उठाई

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मंदिरों व सभी धार्मिक स्थलों में पूजा पाठ शुरू करने की मांग को लेकर कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय सामने आए. विकास उपाध्याय ने कहा कि हिंदुओं और विभिन्न धर्मों की आस्था हमेशा से भगवान व देवी देवताओं के पूजा पाठ और अपने अपने धार्मिक स्थलों के प्रति रही है. केन्द्र सरकार के गाइड लाइन में चूंकि मंदिरों को बंद रखने की बात कही गई है तो इस संबंध में केंद्र को भी विचार करना चाहिए, जब सभी चीजों में कुछ न कुछ ढील दी जा रही है तो मंदिरों को खोलने अब विलम्भ करना ठीक नहीं होगा. विकास उपाध्याय ने इस संबंध में मुख्यमंत्री से मिल कर विस्तृत चर्चा की है.

Close Button

भगवान और विभिन्न धर्मो पर अटूट श्रद्धा रखने वाले कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने आज छत्तीसगढ़ के मंदिरों में अविलंब पूजा पाठ शुरू किये जाने की मांग उठा कर बीजेपी के हिंदुत्व के मुद्दे को मात दे दिया है और कहा है हिंदुओं की आस्था का प्रतीक है मंदिरों में पूजा पाठ जो कोरोना के चलते और केंद्र की गाइड लाइन के चलते महीनों से बंद है. जबकि इस बीच एक समय के बाद जन सामान्य के लिए विभिन्न चीजों में छूट देना शुरू हो गया है. लेकिन भगवान के द्वार अभी भी खुले नहीं है. जिसमें अब और विलम्भ ठीक नहीं होगा.

विकास उपाध्याय ने कहा इस बीच कई मौके पर उनसे मुलाकात के दौरान आम लोगों ने भी इस तरह की इच्छा जाहिर करते रहे हैं. आज विकास उपाध्याय प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी मुलाकात कर इस संबंध में विस्तृत चर्चा की है और कहा है कि केन्द्र सरकार से सकारात्मक बात कर इस संबंध में निर्णय लिए जाने का समय है और उनसे निवेदन किया है कि सरकार इस संबंध में विचार कर 1 जून से प्रदेश के मंदिरों को खोलने निर्णय ले. साथ ही जो कोरोना को लेकर नियम बनाये गए हैं.

मंदिरों को सेनिटराइज कर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ भक्तों को पूजा पाठ की अनुमति वाली बात लागू रखी जाए. विकास उपाध्याय के इस मुद्दे को उठाये जाने के बाद भाजपा का हिंदुत्व का मुद्दा छत्तीसगढ़ में पीछे हो गया है और उम्मीद की जा रही है सरकार इस संबंध में अविलंब निर्णय ले और छत्तीसगढ़ में लोगों को मंदिर जाने का मौका मिल जाये और पूजा पाठ करने का भी.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।