Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

MonkeyPox के फैलने की आशंका को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से उन राज्यों को अलर्ट कर दिया गया है, जहां विदेशों से आने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा है . इंदौर, भोपाल के Airports पर निगरानी तेज कर दी गई है. विशेषज्ञों ने भी खास सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं.. डॉ उत्कर्ष त्रिवेदी से जानिए संक्रमण के बारें में …

News

MonkeyPox संक्रमण के लक्षण जानिए

  • शरीर पर लाल चकते
  • शरीर में उभरा हुआ फुंसी फोड़े
  • आंखो में लाल पन
  • छोटे छोटे गठान पड़ सकते है
  • तेज बुखार,सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द
  • संक्रमण के 5वें दिन से 21वें दिन के बीच मंकी पॉक्स के लक्षण दिखाई पड़ सकते है.

हल्कें लक्षण दिखने पर क्या करें?

जैसे हर खाँसी बुखार कोरोना नही होता वैसे ही सर्दी बुखार मंकी वायरस नहीं होता. जैसे चिकन पॉक्स में शरीर में दाने उभर आते हैं ठीक वैसे ही MonkeyPox में लाल निशान, दाने फोड़े, फुंसी निकल आते हैं. थोड़े भी संक्रमण दिखने पर, हल्की जलन, थोड़ा तकलीफ हो, आंखों में लालपन दिखे तो शुरुआती लक्षण में होम्योपैथी दवाई ले सकते हैं.

Monkeypox Virus Cases Confirmed in 14 Countries So Far. Full List Here
Red spots

गंभीर लक्षण दिखने पर क्या करें?

इस तरह के लक्षण – शरीर में कही गठान होने पर, यदि गठान कड़ा हो जाए, असहनीय बदन दर्द होने पर, बॉडी में लाल चकते फैलने पर, तेज बुखार होने पर, हड्डी तोड़ बुखार होने पर इस स्थिति में तुरंत नजदीकी डॉ से संपर्क करे.हल्के लक्षण के आधार पर होम्योपैथी की दवाई लेना सही रहेगा.

मंकी वायरस से डरने जैसी कोई बात नहीं

होम्योंपैथी विशेषज्ञ डॉ उत्कर्ष त्रिवेदी के मुताबिक जैसे कोरोना के समय मरीज को मौत का भय सता रहा था ठीक वैसे ही मंकी पॉक्स से यदि मरीज भयभीत हो रहा हैं उसे मौत का डर सता रहा हैं, तो मेंटल हेल्थ को ध्यान में रखते हुए ऐसे स्थिति में होम्योपैथी डॉ स्पेशल ट्रीटमेंट देने को तैयार हैं.

इसे भी देखे – Monkeypox: 12 देश में फैल चुका है ‘मंकीपॉक्स’… WHO ने किया अलर्ट… आप अपने बच्चों का रखे ख्याल…

संक्रमण रोकने के लिए रखे इन बातों का ध्यान

  • बाहर से कोई भी फल सब्जी लाने पर अच्छी तरह साफ करें
  • पेड़ से तोड़कर कोई भी फल सब्जी खाने से बचें
  • गर्मी में ट्रेवल करने के तुरंत बाद नही नहाए, पहले पसीने सुखाये
  • धूप में रहने पर ठंडे पेय पदार्थों का सेवन न करें.
  • ज्यादा तली भुनी चीजें न खाए.
  • मांस पका कर न खाए.
  • गर्म तासीर की चीजें खाने से बचे.
  • पेट को जो ठंडकता प्रदान करे वैसे चीजों का सेवन अधिक करे.
  • लू से अपने आपको बचाए रखे.

मौसम में उतार चढ़ाव का सीधा असर इस वायरस को फैलने में मदद करेगा इसलिए जाती गर्मी और आते हुए बारिश के मौसम के बीच इन बातों का ध्यान जरुर रखे. सर्द गर्म का रिएक्शन तुरंत दिख सकता हैं, और प्रॉब्लम बढ़ सकता हैं.सर्द गर्म होने और स्किन प्रॉब्लम हो सकता हैं, इससे फोड़े फुंसी बढ़ सकते है.