MP CRIME: अंतरराज्यीय गैंग के 4 बदमाश गिरफ्तार, लूट, हत्या समेत कई वारदातों को दे चुके हैं अंजाम, इधर दोना-पत्तल बनाने वाली मशीन बेचने के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी अरेस्ट

ग्वालियर की मुरार थाना पुलिस ने भोपाल के भानपुरा क्षेत्र से बदमाशों की एक शातिर गैंग को धर दबोचाने में सफलता हासिल की है। पकड़ी गई गैंग मध्य प्रदेश के ग्वालियर सहित महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ में कई गंभीर वारदातों को अंजाम दे चुकी है। पुलिस ने गैंग के मुख्य सरगना सहित चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने हत्या, लूट, नकबजनी सहित कई गंभीर वारदातों का खुलासा हुआ है।

40 लाख रुपए की चंदन की लकड़ी जब्तः गोदाम में स्टोर करके रखी गई थी 270 किलो लकड़ी, गिरफ्तार दो आरोपियों में एक राजस्थान का

दरअसल, ग्वालियर पुलिस को मुखबिर के जरिए सूचना मिली थी कि बीते दिनों शहर के थाना मुरार अंतर्गत मन्नापुरम गोल्ड संस्थान में चोरी का प्रयास करने और बंसी पुरा क्षेत्र में मोटरसाइकिल लूट की घटना कारित करने वाले बदमाशों को भोपाल के थाना छोला मंदिर क्षेत्र के भानपुरा में देखा गया है। मुखबिर से मिली सूचना की तस्दीक करते हुए मुरार थाना पुलिस की एक टीम ने बताए हुए स्थान पर दबिश दी, मौके से मुखबिर के बताए हुलिए के अनुसार चार संदिग्ध लोगों को पुलिस ने धर दबोचा और जब उनसे पूछताछ की तो उन्होंने मुरार थाना क्षेत्र में मन्नापुरम गोल्ड संस्थान में चोरी का प्रयास करने के साथ बंसी पुरा क्षेत्र में मोटरसाइकिल लूट की घटना कारित करना कबूल किया।

5वीं-6वीं क्लास की छात्राओं ने साफ किया शौचालय: ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के विधानसभा का मामला, कलेक्टर ने डीईओ को सौंपी जांच

पुलिस ने जब और अधिक कड़ाई से बदमाशों से पूछताछ की तो पता चला कि पकड़े गए बदमाशों में से 2 बदमाशों ने थाना ग्वालियर क्षेत्र में 2 साल पहले हत्या की घटना को अंजाम दिया था, इस मामले में वह फरार चल रहे थे। इसके अलावा ग्वालियर शहर के मुरार थाना क्षेत्र में 3, हजीरा थाना क्षेत्र में 2, गोले का मंदिर थाना क्षेत्र में एक के साथ ही अन्य गंभीर वारदातों को अंजाम देना भी स्वीकार किया।

कॉलेज स्टूडेंट ने की आत्महत्या: ऑनलाइन गेम खेलने का शौकीन था छात्र, दो दिन पहले बड़े भाई से मांगे थे 2 लाख रुपए

गौरतलब है कि पकड़ी गई गैंग के सदस्य मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों के साथ महाराष्ट्र के नागपुर, गोंदिया आदि जिलों में भी गंभीर वारदात कर चुके हैं। गिरोह के सदस्यों पर 25 से अधिक आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। ऐसे में अब पुलिस बदमाशों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेगी, जिसके बाद पुलिस को उम्मीद है कि कई अन्य गंभीर अपराधों से जुड़े हुए मामलों का खुलासा भी हो सकता है।

दोना-पत्तल बनाने वाली मशीन बेचने के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी गिरफ्तार

इधर, राजधानी भोपाल की मिसरौद पुलिस ने दोना-पत्तल, डिस्पोजल बनाने वाली मशीन बेचने के नाम पर ठगी करने वाले ठगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से नकदी, सोने की चैन, लैपटाॅप, फर्जी पहचान पत्र समेत अन्य बरामद किए हैं। आरोपी फ्रेंचाईजी के नाम पर भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, मंदसौर, सिंगरौली, बैतूल, हरदा समेत कई जिलों में ठगी कर चुके हैं। सात माह पूर्व धोखाधड़ी कर रफूचक्कर हो गये थे।

रिश्वत लेना पड़ा महंगा: जल संसाधन विभाग का क्लर्क 15 हजार की घूस लेते पकड़ाया, सुरक्षा निधि निकालने ठेकेदार से मांगे थे पैसे

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button