Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

राकेश चतुर्वेदी,भोपाल। मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो गई है. लेकिन उन्हें चिंता करने की कोई बात नहीं है. फसल का सर्वे के आधार पर मुआवजा दिया जाएगा. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को किसानों की नुकसान फसल का आकलन करने के निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के अनेकों गांव और कुछ जिलों में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है. बारिश से फसलों को लाभ हुआ है, लेकिन ओले गिरने के कारण फसलें बर्बाद भी हुई है. मैंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ओलावृष्टि के कारण जहां-जहां किसानों की फसलें बर्बाद हुई हैं, वहां तत्काल सर्वे किया जाए. नुकसान का आकलन कर किसानों को राहत राशि देने की व्यवस्था की जाएगी.

MP में किसानों पर कहर बनकर टूटी बेमौसम बारिश: ओलावृष्टि से कई जिलों में खड़ी फसलें बर्बाद, दिग्विजय सिंह ने की कर्जमाफी और मुआवजा देने की मांग

सीएम शिवराज ने ये भी कहा कि किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ भी मिलेगा. इसके निर्देश मैंने दिए हैं. प्रदेश की सरकार हमेशा संकट की घड़ी में अपने किसानों के साथ खड़ी है. अभी भी मैं आश्वस्त कर रहा हूं कि तकलीफ है, परेशानी है, नुकसान हुआ है, कष्ट है, संकट है, लेकिन इस संकट के पार निकालकर हम अपने किसान भाइयों-बहनों के हुए नुकसान का भरपाई करेंगे. चिंता करने की बात नहीं है.

फसलों के नुकसान को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है कि मध्यप्रदेश में ओलावृष्टि से किसानों की फसल बर्बाद हुई है. प्रशासन को तत्काल सर्वे कराकर किसानों को राहत देनी चाहिए. इसके साथ ही कृषि बीमा का उचित मुआवजा दें और कर्ज माफ करें.

अभी भी 3 दिन जारी रहेगा बारिश का दौर

मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश के सागर, उज्जैन, ग्वालियर-चंबल संभाग और राजगढ़, रायसेन, छिंदवाड़ा जिलों में बारिश और ओलावृष्टि को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. इन इलाकों में गरज-चमक के साथ बिजली गिरने और ओलावृष्टि होने की संभावना है. इसके अलावा होशंगाबाद, रीवा, शहडोल, इंदौर, जबलपुर संभाग समेत विदिशा, भोपाल और सीहोर जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश और बिजली गिरने की संभावना है. अगले 24 घंटे के लिए अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग का कहना है कि पंजाब की तरफ एक सिस्टम बन रहा है. इसी का असर मध्य प्रदेश पर पड़ा रहा है. 2 से 3 दिन तक ये बना रहेगा और बरिश का दौर जारी रहेगा.

मध्य प्रदेश में फिर 3 दिन मौसम रहेगा खराब: विभाग ने ऑरेंज और येलो अलर्ट किया जारी, बारिश, बिजली और ओलावृष्टि की संभावना

निवाड़ी में ओलावृष्टि से किसानों की फसल चौपट

धर्मेंद्र यादव,निवाड़ी। जिले में तीन दिनों से हो रही बेमौसम बारिश के साथ कल देर रात तेज हवा के साथ ओलावृष्टि के चलते खेतों में खड़ी फसलें हुई चौपट हो गई है. निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर तहसील के टेहरका, चंदपुरा और चुरारा क्षेत्र में तेज बारिश के साथ करीब 10 से 20 मिनट तक जमकर ओलावृष्टि हुई. जिससे किसान के खेतों में खड़ी सरसों, गेंहू, चना और मटर की फसलें बुरी तरह नष्ट हो गई. ओलावृष्टि से बर्बाद हुई फसालों को देख किसान दुःखी है. उनका कहना है कि अब तो बस सरकार से ही सहायता का ही भरोसा है.

विदिशा से बारिश-ओलावृष्टि से करीब 15 गांव के फसल प्रभावित

संदीप शर्मा,विदिशा। विदिशा जिले के कई गांवों में शनिवार देर रात फिर जोरदार बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है. जिससे सिरोंज और लटेरी तहसील के करीब 10-15 गांव प्रभावित हुए हैं. पिछले तीन चार दिनों से जिले में बारिश के साथ ओलावृष्टि हो रही है. 6 जनवरी को विदिशा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने ओला प्रभावित ग्रामों का दौरा किया था. किसानों को उनके नुकसान की भरपाई का भरोसा दिलाया था.

छिंदवाड़ा में भी गेहूं चने की खड़ी फसल पर बर्बाद

शरद पाठक,छिंदवाड़ा। जिले के अमरवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के हर्रई विकासखंड में शनिवार को देर शाम तेज बारिश के साथ ओले गिरने से बड़ी मात्रा में फसल को नुकसान हुआ है. दरअसल आफत की बारिश गेहूं चने की खड़ी फसल पर कहर बनकर टूटी है. जब इस मामले पर हर्रई तहसीलदार से संपर्क किया गया, तो उन्होंने कहा कि देर शाम हुई बारिश से हर्रई क्षेत्र के 4 से 5 गांव प्रभावित हुए हैं. इसमें बिछुआ चोपना और कोहपानी शामिल है. उन्होंने बताया कि अंधेरा होने के कारण अभी सर्वे करना संभव नहीं है. इसलिए कल सुबह सर्वे करके जांच रिपोर्ट बनाई जाएगी, तभी नुकसान का सही आंकड़ा सामने आ सकेगा. इसके साथ ही हर्रई के ग्राम पंचायत रैया राव मैं भी बारिश और ओले गिरने से नुकसान होने की खबर मिली है.

अशोकनगर में कई गांव प्रभावित

मुकेश मिश्रा,अशोकनगर। जिले में देर शाम जोरदार बारिश के साथ ओले गिरे हैं. बीते दो दिनों से रुक रुककर बारिश हो रही है. ओले गिरने से फसलों को भी काफी नुकसान हुआ है. शाढोरा क्षेत्र के कई गॉंवों सहित जिले के अन्य क्षेत्रों में फसलों को नुकसान हुआ है. एक दिन प्रशासन की टीम ने फसलों का सर्वे किया था. ओलावृष्टि से गेंहू, चना सहित अन्य फसलों को नुकसान पहुंचा है. मौसम विभाग ने जिले में ऑरेंज एलर्ट जारी किया था. बारिश के साथ ही अब जिले में ठंड बढ़ सकती है.

शहडोल में कोहरा, ठंड भी बढ़ी, फसल खराब होने की आशंका

अजय अरविंद,शहडोल। मौसम विभाग के अलर्ट के बाद शहडोल में बारिश का दौर जारी है. देर रात से रुक-रुककर बारिश हो रही है. बारिश के चलते लोगों का जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. किसानों के चिंता बढ़ गई है. बदले मौसम के चलते कोहरे छाया हुआ है. बारिश के चलते ठिठुरन के साथ ठंड भी बढ़ गई है. इसके साथ ही अचानक हुई बरसात से खेतों की फसल पाले का शिकार हो सकती है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus