whatsapp

आंगनबाड़ी भर्ती में भ्रष्टाचार का आरोप: बैतूल में युवती ने किया हंगामा, देवास में जनसुनवाई के दौरान झपकी लेते नजर आए अधिकारी

अमित पवार,बैतूल/प्रदीप ठाकुर,देवास। मध्यप्रदेश के बैतूल में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब युवती ने आगनबाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती प्रक्रिया में भ्रष्टाचार के आरोप लगाया। इसे लेकर युवती ने जनसुनवाई में जमकर हंगामा किया। इधर देवास जिले में जनसुनवाई के दौरान एक अधिकारी नींद की झपकी लेते हुए दिखाई दिए। वहीं बैठक में कई विभागों के मुखिया नदारद रहे।

जनसुनवाई में युवती का हंगामा, आंगनबाड़ी भर्ती प्रक्रिया में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

बैतूल में जनसुनवाई के दौरान एक युवती ने जमकर हंगामा मचाया। दरअसल, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के लिए युवती ने आवेदन किया था, जिसमें वो प्रथम स्थान पर थी, लेकिन पांचवे स्थान वाली महिला को नियुक्ति दे दी गई। जिसे लेकर युवती ने भर्ती प्रक्रिया में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

MP BREAKING: इनकम टैक्स ऑफिसर 5 लाख रिश्वत लेते गिरफ्तार, इलेक्ट्रिक कंपनी से मांगी थी घूस

युवती चिचोली ब्लॉक के मोतीपुर की रहने वाली है। हंगामे से अधिकारियों के हाथ पांव फूल गए। वहां मौजूद अधिकारियों ने युवती को समझाया और चार दिन के अंदर मामले का निराकरण करने का आश्वासन दिया।

कलेक्टर की पहली जनसुनवाई में अधिकारी नदारद, एक नींद की झपकी लेते नजर आए

देवास में कलेक्टर का चार्ज लेने के बाद IAS ऋषव गुप्ता की आज पहली जनसुनवाई थी। जिसमें कलेक्टर ने आमजनों की समस्याओं को सुना और विभाग के जिम्मेदारों को हल करने के लिए उचित दिशा निर्देश दिए। लेकिन कई विभागों के अधिकारियों ने कलेक्टर की जनसुनवाई में आना मुनासिब ही नहीं समझा और अपने मातहतों को बैठक में भेज दिया।

Breaking: 8 हजार रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथों गिरफ्तार, इस बात के लिए मांगी थी घूस, जबलपुर लोकायुक्त की कार्रवाई

इस दौरान कई आवेदनों पर कलेक्टर ने विभाग के जिम्मेदारों को आवाज़ लगाई, लेकिन कई अधिकारी आए ही नहीं थे। ऐसे में कलेक्टर ने उन्हें फोन कर बुलाने के निर्देश दिए। इतना ही नहीं जनसुनवाई में कुछ अधिकारी ऊंघते हुए नज़र आए तो वहीं वन विभाग के एक अधिकारी नींद की गहरी झपकी लेते दिखाई दिए।

कलेक्टर ने जनसुनवाई में अधिकारियों की लापरवाही वाले सवाल के जवाब में कहा कि कुछ अधिकारी परमिशन लेकर बाहर गए है, कुछ अपने ऑफिस में व्यस्त है इसलिए नहीं आए। लेकिन सभी को कहा गया है कि आगे से जनसुनवाई में तय समय पर आए। जनसुनवाई टॉप प्राथमिकता है। उन्होंने कुछ अधिकारियों के इंदौर से अप-डाउन करने के सवाल पर कहा कि शिकायत सामने आने पर कार्रवाई की जाएगी।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button