Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

अमृतांशी जोशी, भोपाल। वैट से एमपी सरकार को पिछले वित्तीय वर्ष-2021-22 में जमकर खजाना भरा है। वित्तीय वर्ष-2021-22 में टारगेट की तुलना में हर सेक्टर में 100% से ज्यादा वसूली हुई है। कोरोना काल होने के बावजूद सरकारी खजाने में जमकर लक्ष्मी की बरसात हुई। एमपी सरकार ने वित्तीय वर्ष-2021-22 में वैट से 49 हज़ार 39 करोड़ रुपए की कमाई की है। जबकि 2020-21 में वैट से सरकार के खजाने में 42 हज़ार 599 करोड़ आए थे। इस तरह वित्तीय वर्ष 2020-21 की अपेक्षा 2021-22 में 7 हजार करोड़ से ज्यादा सरकार खजाने में आया है।

Petrol-Diesel Price Today: 12 दिन में 10वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, MP में अब तक 7 रुपए 20 पैसे महंगा हुआ पेट्रोल, चेक करें अपने शहर का रेट

सरकार ने वित्तीय वर्ष-2021-22 पेट्रोल-डीजल और शराब से सवा दो हजार करोड़ से ज्यादा की कमाई की। वहीं जीएसटी से 3 हजार 910 करोड़ रुपए सरकारी खजाने में आया है। एमपी में जीएसटी कलेक्शन अब तक सर्वाधिक है। माइनिंग में भी सरकार ने 2 हज़ार करोड़ रुपये अधिक एकत्रित किए। टारगेट की तुलना में हर सेक्टर में 100% से ज्यादा वसूली की गई है। वित्तीयय वर्ष 2021-22 में 49 हज़ार 39 करोड़ जमा हुए हैं। वहीं 2020-21 में 42 हज़ार 599 करोड़ जमा हुए थे।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus