whatsapp

सिपाही को 10 साल जेल: पत्नी को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के मामले में कोर्ट ने सुनाई सजा,

कर्ण मिश्रा, ग्वालियर। पत्नी को सुसाइड के लिए मजबूर करने के मामले में आरोपी पति को कोर्ट ने सजा सुनाई है। जिला अदालत (District court) ने सिपाही दीपक चौहान को 10 साल की सजा सुनाई है। अदालत ने सबूतों के आधार पर सज़ा सुनाई।

27 सितंबर को उज्जैन में होगी शिवराज कैबिनेट की बैठक: पीएम मोदी के दौरे को लेकर होगी चर्चा, कई अहम प्रस्तावों को भी मिलेगी मंजूरी

2017 को दीपक की पत्नी सुषमा ने की थी खुदकुशी

दरअसल, 20 अप्रैल 2017 को सिपाही दीपक चौहान की पत्नी सुषमा ने खुदकुशी की थी। उसने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था। जिसमें सुषमा ने पति और ससुराल वालों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया था। प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या करने की बात कही थी। मायके वालों ने पुलिस ने शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने सुसाइड नोट की फॉरेंसिक जांच करवाई, जिसमें सुसाइड नोट मृतिका सुषमा का ही निकला।

जिला अदालत ने सबूतों के आधार पर सुनाई सजा

आज मामले में की सुनवाई के दौरान जिला अदालत ने पाया कि मृतिका ने जो आरोप लगाए थे वो सही पाए गए। अदालत ने सबूतों के आधार पर सिपाही दीपक चौहान को दोषी ठहराते हुए 10 साल की सुनाई सजा।

सियासतः BJP विधायक बोले- दिग्विजय को अध्यक्ष नहीं बना रहे तो ये पागलपन के दौर से गुजर रहे, पूर्व मंत्री शर्मा ने मंत्री ऊषा पर साधा निशाना, कहा- कांग्रेस के डांडिया को रोक कर दिखाए

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button