whatsapp

MP Nagar Nigam Chunav: पुरानी जेल में EVM कैद, फोर लेयर की लगाई गई सुरक्षा व्यवस्था, CCTV कैमरे से भी हो रही निगरानी

अमृतांशी जोशी, भोपाल। MP Nagar Nigam Chunav: मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान बुधवार को संपन्न हो गया। पहले चरण में 11 नगर निगम सहित 133 नगरीय निकायों में मतदान हुआ। इसी के साथ ही महापौर और पार्षद पदों पर 2300 से ज्यादा उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला EVM में कैद हो गया। मतदान के बाद पुरानी जेल को स्ट्रांग रूम बनाया गया है। भोपाल नगरीय निकाय की करीब ढाई सौ ईवीएम को यहां रखा गया है। EVM की सुरक्षा के लिए यहां फोर लेयर की सुरक्षा व्यवस्था लगाई गई है। वहीं CCTV से भी निगरानी की जा रही है।

MP Election: नशे में धुत होकर दो शिक्षक पहुंचे थे मतदान सामग्री लेने, न चल पा रहे थे न बोल, फिर क्या हुआ, पढ़ें पूरी खबर

फोर लेयर की सुरक्षा व्यवस्था में पहले पहली लेयर में थाना पुलिस बल को तैनात किया गया है, जो स्ट्रांग रूम परिसर के बाहर तैनात किया गया है। वहीं दूसरी लेयर में गेट के अंदर डीआरपी के आर्म्ज़ गार्ड की तैनाती की गई है। वहीं तीसरी लेयर में 7th वातलियां के 20 गार्ड EVM की सुरक्षा व्यवस्था में 24 घंटे तैनात रहेंगे। जबकि अंतिम और चौथी लेयर में जेल और डीआर गार्ड तैनात रहेंगे। करीब 50 जवान सुरक्षा में दिन-रात 24 घंटे तैनात रहेंगे। अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरा की मदद से भी नजर रखी जा रही है।

लीना मणिमेकलाई को जारी होगा लुकआउट सर्कुलर: उत्कृष्ट काम करने वाले पुलिसकर्मी होंगे सम्मानित, कांग्रेस सिर्फ चुनाव में इच्छाधारी हिंदू बनकर जाते हैं मंदिर- नरोत्तम मिश्रा

बता दें कि पहल चरण में 6 जुलाई को 49 जिलों में 11 नगर निगम, 36 नगर पालिका और 86 नगर परिषद के लिए चुनाव हुए। इसके लिए प्रदेश में कुल 13 हजार 148 मतदान केंद्र बनाए गए थे। इनमें से 3296 मतदान केंद्र संवेदनशील थे। भोपाल, जबलपुर, उज्जैन, खंडवा, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, सागर, सिंगरौली,इंदौर, ग्वालियर, और सतना में वोटिंग हुई।

MP Urban Body Election: नगरीय निकाय के पहले चरण में हुआ 61% मतदान, भोपाल में पड़े सबसे कम वोट, देखिए जिलेवार आंकड़ा

दूसरे चरण का चुनाव 13 जुलाई को

निकाय चुनाव के लिए दूसरे चरण मतदान 13 जुलाई को कराया जाएगा। मतों की गिनती का काम 17 जुलाई को सुबह 7 बजे से शुरू होगा। मतदान के लिए वोटरों को चुनाव आयोग की ओर से जारी 20 पहचान पत्रों में से किसी एक को लाना अनिवार्य किया गया है। इस चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच टक्कर मानी जा रही है। इस बार मतदान ईवीएम के जरिए कराया जा रहा है। पहले चरण के चुनाव में स्वतंत्र और निष्पक्ष मतदान कराने के लिए करीब 27,000 सुरक्षाकर्मियों तैनात किए गए थे। 

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button