Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

शब्बीर अहमद, भोपाल। मध्यप्रदेश भट्टी की तरह तप रहा है। भीषण गर्मी से आम जनता का हाल बेहाल है, लेकिन शातिर ठगों ने गर्मी के मौसम के मिजाज को ही अपने ठगी का तरीका बना लिया है। बिजली कटाने का डर दिखाकर धोखबाज लोगों को हजारों की चपत लगा रहे हैं। पढ़िए स्पेशल रिपोर्ट

जालसाज बिजली का बिल नहीं भरने और बिजली कट जाने के नाम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे हैं। भोपाल शहर में पिछले एक हफ्ते में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जहां मैसेज भेजकर ये कहा जाता है कि आपने बिजली बिल पिछले 2 महीने से नहीं भरा है। आज ही तत्काल बिल भरें, नहीं रात 9.30 बजे बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा। इस मैसेज में एक मोबाइल नंबर भी दिया जाता है जिस पर बात करने के लिए कहा जाता है। वहीं बिजली न कट जाए इस खौफ में ठग द्वारा बताई गई बतों को उपभोक्ता फॉलो करता हैं और ठगी का शिकार हो जाते हैं।

इस तरह ठग लोगों को बना रहे निशाना

ठग सबसे पहले बिजली उपभोक्ता को मैसेज भेजते हैं। उस मैसेज में बिजली कटने का जिक्र होता है और साथ में एक मोबाइल नंबर होता है। मोबाइल नंबर पर फोन लगाने पर सर्विस क्रमांक नंबर मांगते हैं। साथ ही मोबाइल में रिमोट शेयरिंग एप्लीकेशन डाउनलोड करवाते हैं। इसके बाद मोबाइल का पूरा कंट्रोल अपने हाथ में ले लिया जाता है। कनेक्शन काटने से बचने के लिए 10 रुपये तुरंत ट्रांसफर करने के लिए कहा जाता है। ठग पीड़ित द्वारा डाले गए ओटीपी और कार्ड नंबर को रिमोट शेयरिंग एप्लीकेशन से नोटकर लेता है। इसके बाद उसी के मोबाइल के एक्सेस से अकाउंट से पैसे निकल जाते हैं।

फेक मैसेज से इस तरह से बचे

बता दें कि बिजली विभाग से मैसेज मोबाइल नंबर से नहीं भेजा जाता है। बिजली विभाग से जो मैसेज आता है वो ऑनलाइन होता है। MPEB के मैसेज में नंबर नहीं बल्की अल्फाबेट लिखे होते हैं। MPEB बिजली बिल भरने का अलर्ट मैसेज भेजता है।
मैसेज में बिजली कनेक्शन काटने का कोई जिक्र नहीं होता है।

वहीं पूरे मामले को लेकर पुलिस का कहना है कि इस तरह के मामले अभी उनके संज्ञान में आए नहीं है, लेकिन इन सबसे सिर्फ सावधान रहकर ही बचा जा सकता है। आप इन फेक मैसेज से सतर्क रहे।

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus