राजा शंकर शाह के नाम को लेकर छिड़ा विवाद, प्रशासन पर गोंडवाना वंश के साथ खिलवाड़ करने का आरोप

कुमार इंदर, जबलपुर. गोंडवाना वंश के राजा शंकर शाह और बेटे कुवर रघुनाथ शाह के शिला पट्टिका को लेकर अब एक नया विवाद खड़ा हो गया है. दोनों राजाओं के शहीद स्थल पर शिला लेख पट्टिका लगाई गई थी, लेकिन गोंडवाना वंश के राजा ना लिखने को लेकर विवाद छिड़ गया है.

गढ़ा गोंडवाना संरक्षण संघ जबलपुर ने कहा है कि दोनों राजाओं के शहीद स्थल पर लगी पहले की पट्टिका में गोंडवाना वंश के शदीद राजा शंकर शाह और बेटे कुंवर रघुनाथ शाह लिखा गया था, जिसे बदलकर अब केवल शहीद शंकर शाह और रघुनाथ शाह कर दिया गया है, जो कि बेहद आपत्तिजनक है. लिहाजा अब शहीद स्थल पर लगी शिला पट्टिका को बदलने की मांग हो रही है. इस बात को लेकर प्रशासन और गढ़ा गोंडवाना संरक्षण संघ के बीच काफी लंबी बातचीत हुई. काफी देर की चर्चा के बाद नई शिला पट्टिका बदलने पर सहमति बनी है.

आज का जबलपुर पहले था गोंडवाना राज

दरअसल वर्तमान का जबलपुर और मंडला क्षेत्र पहले गोंडवाना वंश के राजाओं का राज हुआ करता था. लेकिन अंग्रेजों द्वारा गोंडवाना वंश के मंडला में बने किले पर कब्जा करने और आजादी के बाद इस रीयासत का विलय करने के बाद गोंडवाना वंश का अंत हो गया. बाद में यह क्षेत्र के कई जिलों में बट गया.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।