अच्छी खबर : दिग्विजय सिंह की मांग पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने मध्यप्रदेश में की ऑक्सीजन सप्लाई, एमपी के गुना पहुंची 16 टन ऑक्सीजन

संदीप दीक्षित, गुना। मध्यप्रदेश में कोरोना का संक्रमण बढऩे के साथ ही मरीजों को प्राण वायु आक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है. प्रदेश सरकार की स्वयं की व्यवस्था के अलावा अन्य राज्यों से भी ऑक्सीजन की आपूर्ति कर मदद की जा रही है. इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा मध्यप्रदेश को ऑक्सीजन की मदद की गई है. छत्तीसगढ़ से आज 16 टन ऑक्सीजन मध्यप्रदेश के गुना शहर भेजी गई है. इससे अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों को अब ऑक्सीजन की कमी का सामना करना नहीं पड़ेगा.

Close Button

ऑक्सीजन गुना के साथ-साथ राजगढ़ जिले के भी अस्पतालों में भेजी जाएगी
बता दें कि मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के आग्रह पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 16 टन ऑक्सीजन गुना भेजी है. यह ऑक्सीजन गुना के साथ-साथ राजगढ़ जिले के भी अस्पतालों में भेजी जाएगी. ऑक्सीजन का टैंकर जैसे ही गुना पहुंचा तो दिग्विजय के पुत्र और राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ उसकी आगवानी की. इस दौरान जयवर्धन ने ऑक्सीजन प्लांट पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तैनाती भी करने की बात कही है, ताकि उनसे सम्पर्क कर जरूरतमंद व्यक्ति और अस्पताल ऑक्सीजन प्राप्त कर सकेंगे. उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण करते हुए खाली सिलेंडर और परिवहन व्यवस्था की भी स्थिति का जायजा लिया.

Read More : कोरोना की चेन तोड़ने कलेक्टर ने संभाला मोर्चा, बिना मास्क भीड़ में सब्जी खरीद रहे 50 लोगों को भिजवाया थाने

जिंदल ऑक्सीजन प्लांट राउरकेला से भी 16 टन ऑक्सीजन की आपूॢत की थी
बता दें कि यह दूसरा मौका है जब कांग्रेस नेताओं की तरफ से गुना जिले को ऑक्सीजन टैंकर प्राप्त हुआ. इससे पहले जिंदल ऑक्सीजन प्लांट राउरकेला से भी गुना जिले को 16 टन लिक्विड ऑक्सीजन की आपूॢत की चुकी है. जिसे गुना सहित अशोकनगर और राजगढ़ जिलों के अस्पताल में उपचार करा रहे मरीजों के लिए उपलब्ध कराई गई थी.

 Read More : डॅाक्टर की मिलीभगत से हार्डवेयर व्यापारी बेच रहा था 24 हजार में एक रेमडेसिविर इंजेक्शन, दोनों पुलिस हिरासत में

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।