Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

सदफ हामिद, भोपाल। MP पुलिस (MP Police) ने अपनी शब्दों की डिक्शनरी में बदलाव किया है। पुलिस विभाग में उर्दू और फ़ारसी आदि शब्दो के स्थान पर हिंदी भाषा का इस्तेमाल होगा। मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय ने इन शब्दों के इस्तेमाल का आदेश भी जारी कर दिया है। MP पुलिस ने उर्दू और फ़ारसी के 220 शब्दों को हटाने का निर्णय है। ऐसे 220 शब्दों की सूची जारी कर दी गई है। मध्यप्रदेश अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अनिक कुमार गुप्ता ( Madhya Pradesh Additional Director General of Police Anik Kumar Gupta) ने आदेश जारी किया। 

इसे भी पढ़ेः Corona in Madhya Pradesh: पिछले 24 घंटे में 5 कोरोना संक्रमितों की मौत, मिले 7 हजार 597 मरीज, एक्टिव केस 43 हजार 973 पहुंची

इसे भी पढ़ेः EXCLUSIVE: यह घर बिकाऊ है! आखिर मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में हिंदुओं ने घरों के बाहर ऐसा क्यों लिखा? Lalluram.Com पर पढ़िए पूरी कहानी 

पुलिस विभाग ने जो सूची जारी की है उसके मुताबिक फरार की जगह अब भागा हुआ शब्द का इस्तेमाल होगा। वहीं नकबजनी की जगह सेंध और ज़ब्त की जगह कब्जे में लेना शब्द का इस्तेमाल अब से किया जाएगा।

एमपी पुलिस 220 उर्दू और फारसी शब्दों की जगह हिंदी शब्दों को करेगी इस्तेमाल, सूची देखने के लिए क्लिक करें

इसके अलावे नकबजनी की जगह सेंध, जमानत की जगह प्रतिभूति, वारदात की जगह घटना, सुराग की जगह खोज और हलफनामा की जगह शपथ पत्र हिंदी शब्द का इस्तेमाल एफआईआर दर्ज करते समय या कॉपी लिखते समय इस्तेमाल होगा। इसके अलावे दस्तावेज की जगह अभिलेख, सबूत की जगह साक्ष्य, शिनाख्त की जगह पहचान शब्द का इस्तेमाल पुलिसकर्मी करेंगे।

इसे भी पढ़ेः BIG NEWS: पूर्व विधायक राधेलाल बघेल ने पीएम मोदी को दी गाली, बीजेपी ने दिखाया बाहर का रास्ता

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus