whatsapp

नर्सिंग कॉलेजों के CBI जांच पर राजनीति: मंत्री सारंग ने कहा- कांग्रेस शासन में इन्हें गलत तरीके से मिली थी मान्यता, कमलनाथ बोले- मप्र में व्यापमं की तरह घोटाले जारी

अमृतांशी जोशी,भोपाल। मध्यप्रदेश के 35 नर्सिंग कॉलेजों के फर्जीवाड़े की जांच मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने CBI को सौंप दी है. सीबीआई तीन महीनें में नर्सिंग कॉलेजों की जांच कर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी. अब इस पर सियासत शुरू हो गई है. चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि कांग्रेस शासन में गलत तरीके से नर्सिंग कॉलेजों को मान्यता दी गई थी. कमलनाथ ने पलटवार कर कहा कि मध्यप्रदेश में व्यापमं की तरह घोटाले जारी है. हर योजना में भ्रष्टाचार, हर काम में फर्जीवाड़ा है.

35 नर्सिंग कॉलेजों को कांग्रेस शासन में गलत तरीके से मिली थी मान्यता

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि नर्सिंग कॉलेजों की सीबीआई जांच होगी. कांग्रेस सरकार में 35 नर्सिंग कॉलेजों को मान्यता दी गई थी, जब कमलनाथ मुख्यमंत्री थे. भाजपा सरकार ने नर्सिंग स्ट्रक्चर को ठीक किया है. कोर्ट ने जिन 35 नर्सिंग कॉलेजों की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं. उन्हें कांग्रेस शासन में गलत तरीके से मान्यता दी गई थी.

RSS को आतंकवाद साबित किया, तो छोड़ दूंगा राजनीति: मंत्री विजय शाह ने दिग्विजय के बयान पर किया पलटवार, बोले- ‘दिग्गी’ राष्ट्रीय अध्यक्ष बने तो मप्र के साथ देश का भी करेंगे बंटाधार

हर योजना में भ्रष्टाचार, हर काम में फ़र्ज़ीवाड़ा- कमलनाथ

पूर्व सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने लिखा है कि मध्यप्रदेश में व्यापमं की तरह घोटाले जारी हैं. हर योजना में भ्रष्टाचार, हर काम में फ़र्ज़ीवाड़ा है. हाईकोर्ट ने अब नर्सिंग कॉलेजों की गड़बड़ियों की जांच सीबीआई को सौंपी है. नर्सिंग कॉलेजों की संबद्धता और मान्यता के नाम पर जमकर फर्जीवाड़ा किया गया है. दोषियों पर आख़िर कार्रवाई कब होगी. भ्रष्टाचारी कब गढ़ेंगे ?

Breaking: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव लड़ेंगे! आज पहुंच सकते हैं नामांकन फार्म लेने

बता दें कि मध्य प्रदेश नर्सिंग काउंसिल ने प्रदेश में सत्र 2019-20 में 520 कालेजों को संबद्धता दी थी. इन कॉलेजों में ग्वालियर के 35 कॉलेज भी शामिल है. नर्सिंग कॉलेज फर्जीवाड़े को लेकर न्यायालय में एक जनहित याचिका प्रस्तुत की गई थी. जिसकी सुनवाई के आधार पर 35 में से एक कॉलेज की संबद्धता के रिकार्ड की जांच कराई गई. अतिरिक्त महाधिवक्ता ने रिकार्ड की जांच कर गड़बड़ियां हाई कोर्ट में बताई थी. कोर्ट में सुनवाई के बाद फर्जीवाड़े की जांच ग्वालियर बेंच ने CBI को सौंप दी है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button