नवजोत सिद्धू का सियासी छक्का: पार्टी के घोषणापत्र से पहले किया ‘पंजाब मॉडल’ लॉन्च, पोस्टर में CM चन्नी की फोटो गायब

चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी के घोषणापत्र से पहले अपना पंजाब मॉडल लॉन्च कर दिया, जिससे सियासी पारा गरम हो गया. वहीं सिद्धू ने बातों-बातों में ही कांग्रेस को चेतावनी भी दे डाली कि वे इस बार कोई समझौता नहीं करेंगे. खास बात यह भी है कि सिद्धू के पंजाब मॉडल वाले पोस्टर से CM चरणजीत चन्नी की फोटो गायब रही. सिर्फ सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका गांधी ही इसमें नजर आ रहे हैं. सिद्धू ने यह तक कह दिया कि पंजाब किसी एक का नहीं है. पंजाब का CM कांग्रेस हाईकमान नहीं, बल्कि लोग तय करेंगे.

पंजाब मॉडल के जरिए सिद्धू ने कांग्रेस सहित भाजपा-अकालियों पर निशाना साधा. सिद्धू ने 2.5 लाख करोड़ रुपये के कर्जदार पंजाब के लिए नाम लिए बगैर दो मुख्यमंत्रियों को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने पंजाब के लिए 25 से 30 साल तक का सबसे खराब समय बताया. गौरतलब है कि इस कार्यकाल में कांग्रेस सहित अकाली-भाजपा की सरकारें पंजाब में सत्तासीन रही हैं. उन्होंने ये भी कहा कि उनके पंजाब मॉडल पर ही उनका राजनीतिक भविष्य निर्भर है. सिद्धू ने कहा कि पार्टी के जनरल सेक्रेटरी से बात करने के बाद यह सब कहा है. मेनिफेस्टो में जाने से पहले यह उनके पास जाएगा.

पोस्टर से चन्नी गायब

 

नवजोत सिंह सिद्धू का पंजाब मॉडल

  • पंजाब स्टेट लिकर कॉर्पोरेशन- शराब GST से बाहर है. उस पर वैट लगाने वाले ज्यादा पैसा कमा रहे हैं. इसका उदाहरण 37 हजार करोड़ कमाई कर रहा तमिलनाडु है, जबकि उनकी खपत पंजाब से आधी है. यह कॉर्पोरेशन एक्साइज लीकेज रोकेगा. अवैध बिक्री बंद करेंगे. शराब को वैट के दायरे में लाएंगे. शराब के सरकारी ठेके खुलेंगे.
  • पंजाब स्टेट रेत माइनिंग कॉर्पोरेशन – सरकारी स्टॉकयार्ड बनेंगे. 14 जिलों में 102 माइनिंग साइट हैं. सरकार खुद रेत खनन कर बेचेगी. तेलंगाना मॉडल पर काम होगा. इससे 3 हजार करोड़ की इनकम होगी. ट्रकों पर चिप्स लगेंगे. इसका एनुअल ऑडिट होगा. 5 हजार लोगों को डायरेक्ट और 15 से 20 हजार को इनडायरेक्ट जॉब मिलेगी.
  • पंजाब स्टेट केबल रेगुलेटरी कमीशन – पंजाब में केबल पर किसी का एकाधिकार नहीं होगा. कमीशन के जरिए कॉम्पिटिशन करवाएंगे. इससे 400 की केबल 200 रुपए में मिलेगी. इससे 3 से 5 हजार करोड़ रेवेन्यू मिलेगा.
  • ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन – बाहरी राज्यों के रूट पर सरकारी बसें चलेंगी. टाइम टेबल डिजिटल होगा. इससे डेढ़ हजार करोड़ की कमाई होगी.

 

अरविंद केजरीवाल का ‘पंजाब मॉडल’, जानिए क्या हैं 10 चुनावी मुद्दे, किसान नेता बलबीर राजेवाल को भी लपेटा

 

अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना

इसके अलावा सिद्धू ने कहा कि आउटडोर एडवर्टाइजमेंट रेगुलेशन लेकर आएंगे. उन्होंने कहा कि लुधियाना 50 लाख कमाता है, लेकिन वहीं का 36 करोड़ का कॉन्ट्रैक्ट हुआ. मैं जो पॉलिसी लेकर आया था, उससे पंजाब में एडवर्टाइजमेंट से एक हजार करोड़ की कमाई हो सकती थी, लेकिन अभी पैसा निजी जेबों में जा रहा है. इसमें 75-25 का खेल यानी 75% कांग्रेस और 25% अकाली दल की कमाई हो रही है.

 

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!