‘लाल आतंक’ पर फिर गहरी चोट: जिसने रखी थी बस्तर में ‘नक्सलवाद’ की नींव, उसकी पत्नी ने किया सरेंडर, जानिए कौन था मोस्ट वांटेड नक्सली ?

Naxalite Ramanna wife Savitri surrenders News: नक्सली मामले में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. खूंखार नक्सल कमांडर रमन्ना की पत्नी सावित्री ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. महिला नक्सली कमांडर सावित्री ने हैदराबाद में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया. उन्होंने तेलंगाना के डीजीपी के सामने आत्मसमर्पण कर दिया.

बताया जाता है कि बस्तर में हुए सभी बड़े नक्सली हमलों में वह शामिल रही है. वह 1992 से 2021 तक सभी बड़े हमलों में शामिल रही हैं. वह नक्सलियों की कोंटा एरिया कमेटी की प्रभारी भी रही हैं.

बता दें कि महिला नक्सली कमांडर सावित्री के पति खूंखार नक्सली कमांडर रमन्ना ने बस्तर में नक्सलवाद की नींव रखी थी. इससे पूरा ‘नक्सलगढ़’ कांप उठता था. उसके आतंक से सभी परेशान थे.

जानिए कौन था मोस्ट वांटेड रमन्ना ?
बता दें कि मोस्ट वांटेड नक्सली कमांडर रमन्ना उर्फ ​​रावलू श्रीनिवास की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी. रमन्ना ने सुरक्षा एजेंसियों को परेशान कर रखा था. तेलंगाना के वारंगल निवासी रमन्ना नक्सलियों की केंद्रीय समिति का सचिव था. तेलंगाना, ओडिशा और छत्तीसगढ़ की सरकारों ने उस पर करीब 2.40 करोड़ रुपये का इनाम घोषित किया था. अकेले छत्तीसगढ़ पुलिस ने उस पर 40 लाख रुपये का इनाम रखा था.

रमन्ना को पिछले एक दशक में सुरक्षा बलों पर हुए बड़े हमलों का मास्टरमाइंड माना जाता है. इन हमलों में सुरक्षा बलों के कई जवान शहीद हो गए हैं. अप्रैल 2010 में दंतेवाड़ा जिले के चिंतलनार गांव में सीआरपीएफ के 76 जवान शहीद हुए थे, मार्च 2014 में सुकमा जिले के जीरम नाला में 16 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे. अप्रैल 2017 में बुर्कापाल में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हुए थे.

रमन्ना का बेटा श्रीकांत उर्फ ​​रंजीत भी पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी बटालियन में कार्यरत है. रमन्ना का भाई पाराशरमुलु भी नक्सली नेता था और 1994 में मारा गया था. उसकी पत्नी भी नक्सली थी और वह भी मुठभेड़ में मारी गई थी.

इसे भी पढ़ें-

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button