मोदी को ‘पैसों की भूख’: 100 कारणों से जाएगी एनडीए सरकार, महंगाई सबसे बड़ी वजह- पी. चिदंबरम

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि केंद्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) को 100 कारणों से चले जाना चाहिए, बल्कि सिर्फ महंगाई के लिए केंद्र सरकार को बेदखल कर दिया जाना चाहिए. चिदंबरम ने कहा कि एक बच्चा भी ईंधन की कीमतों में वृद्धि, आवश्यक वस्तुओं और रोजमर्रा की वस्तुओं की कीमतों में तेज वृद्धि के बीच संबंध को समझाने में सक्षम होगा. उत्तरी गोवा के मंड्रेम विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस पार्टी की बैठक में चिदंबरम यह बातें कहीं.

पी. चिदंबरम ने कहा कि यदि आप सिर्फ ईंधन के लिए 1 हजार रुपए का भुगतान करते हैं, तो आप क्या खरीद सकते हैं, खा सकते हैं, पका सकते हैं. इस सरकार को 100 कारणों से जाना चाहिए, बल्कि केवल महंगाई पर ही इस सरकार को चले जाना चाहिए. पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री राज्य में कई बैठकों को संबोधित करने के लिए गोवा में थे.

चिदंबरम को 2022 के राज्य विधानसभा चुनावों के लिए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ सलाहकार प्रभारी के रूप में नियुक्त किया गया है. चिदंबरम ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों की परवाह नहीं है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘पैसे की भारी भूख’ है.

उन्होंने ने कहा कि कीमतें क्यों बढ़ रही हैं ? कीमतें इसलिए बढ़ रही हैं, क्योंकि पेट्रोल की कीमतें हर दिन बढ़ रही हैं, डीजल की कीमतें हर दिन बढ़ रही हैं. आज लगातार सातवां दिन है कि कीमतें बढ़ी हैं. क्यों, क्योंकि मिस्टर मोदी को पैसे की बहुत भूख है. केंद्र सरकार पेट्रोल, डीजल पर करों से 3.50 लाख करोड़ रुपये कमाती है.

पी. चिदंबरम ने आगे कहा कि वे आपके पसीने, खून और आपके दुखों पर चल रहे हैं. केंद्र सरकार केवल इसलिए चल रही है, क्योंकि आप खुद को निचोड़ रहे हैं और कर दे रहे हैं. यहां तक कि एक बच्चे को भी पता चल जाएगा कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ती हैं, हर चीज की कीमतें बढ़ जाएंगी. परिवहन लागत बढ़ जाती है. कोयले के उत्पादन की लागत बढ़ती है. हर लागत बढ़ेगी.

read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।