Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

चेन्नई। जाली पासपोर्ट के साथ तीन श्रीलंकाई नागरिकों को गिरफ्तार किए जाने के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मामला दर्ज किया है और जांच शुरू कर दी है। दो को नकली भारतीय पासपोर्ट के साथ गिरफ्तार किया गया, जबकि एक को नकली स्पेनिश पासपोर्ट के साथ गिरफ्तार किया गया था।

अक्टूबर 2021 में तमिलनाडु पुलिस द्वारा ये गिरफ्तारियां की गईं, लेकिन प्रमुख जांच एजेंसी ने जनवरी 2022 में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए), पासपोर्ट अधिनियम, विदेशी संशोधन अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज करने के बाद जांच अपने हाथ में ले ली।

तमिलनाडु पुलिस की कुलीन ‘क्यू’ शाखा ने अक्टूबर 2021 में चेन्नई में एक व्यक्ति लेचुमानन मैरी फ्रांसिस्का को गिरफ्तार किया था और एक अन्य श्रीलंकाई नागरिक को मदुरै हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया गया था, जब वह श्रीलंकाई एयरलाइंस की उड़ान में सवार हो रहा था।

तमिलनाडु”क्यू’ शाखा ने एक अन्य श्रीलंकाई नागरिक को भी अक्टूबर 2021 के अंतिम सप्ताह में गिरफ्तार किया था, जब वह एक नकली स्पेनिश पासपोर्ट के साथ तिरुचि हवाई अड्डे से श्रीलंकाई एयरलाइंस की उड़ान में सवार होने की कोशिश कर रहा था। इन गिरफ्तारियों के कारण एनआईए सतर्क हो गई और अब मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

एनआईए के अधिकारियों की एक विशेष टीम मामले की जांच कर रही है, जिसके अंतरराष्ट्रीय प्रभाव होंगे। रॉ और सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसियों ने पहले कुछ राजनीतिक दलों के समर्थन के साथ तमिल राष्ट्रवाद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे अब-निष्क्रिय लिट्टे कैडरों के इनपुट दिए थे। दुनिया भर में फैले लिट्टे के कैडर और नेता तमिल ईलम को लाने और लाने के लिए संगठन को जीवंत करने की कोशिश कर रहे हैं।

एक वकील, रुद्रकुमारन तमिल ईलम के निर्वासन में प्रधानमंत्री हैं जो संयुक्त राज्य अमेरिका से काम कर रहे हैं। नकली पासपोर्ट वाले श्रीलंकाई नागरिकों की गिरफ्तारी को राष्ट्रीय जांच एजेंसी द्वारा गंभीरता से लिया जाता है।

">
Share: