Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

यश खरे,कटनी। मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. प्रदेश में रोजाना अधिकारी-कर्मचारी रिश्वत लेते पकड़े जाते हैं. ताजा मामला कटनी जिले से सामने आया है, जहां मप्र स्टेट सिविल सप्लाइज कारपोरेशन लिमिटेड (नान ऑफिस) का जिला प्रबंधक अधिकारी 60 हजार घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है. जबलपुर लोकायुक्त ने यह कार्रवाई की है. अधिकारी को रिश्वत से डर नहीं, बल्कि कैमरे से डर लग रहा है. VIDEO बनता देख वो मुंह छुपाते रहे.

जानकारी के मुताबिक मप्र स्टेट सिविल सप्लाइज कारपोरेशन लिमिटेड (नान ऑफिस) का जिला प्रबंधक अधिकारी संजय सिंह को व्यापारी का बिल पास करना था. बजरंग राइस मिल्स के संचालक ईश्वर अरोरा से मिलन और परिवहन का 20 लाख का बिल पास कराने के लिए 1 लाख की डिमांड की थी.

BREAKING NEWS: भ्रष्टाचारी महिला CMO के खिलाफ FIR दर्ज, अध्यक्ष और पार्षदों ने की थी शिकायत

जिसके बाद व्यापारी ने इसकी सूचना जबलपुर लोकायुक्त की टीम को दी गई. जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने सूचना के बाद अधिकारी को ट्रैप किया. आज व्यापारी को पैसे देने के लिए भेजा गया. लेकिन नान अधिकारी खुद लेने के बजाय आउटसोर्स कर्मचारी धीरज मिश्रा के जरिए रिश्वत ले रहे थे.

व्यापारी ने जैसे ही कर्मचारी को 60 हजार रुपये रिश्वत दिया, वैसे ही जबलपुर लोकायुक्त की 7 सदस्यी टीम ने धर दबोचा. लोकायुक्त की टीम ने कर्मचारी धीरज मिश्रा और नान अधिकारी संजय सिंह दोनों को आरोपी बनाया है. दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है.

घर के अंदर दिखा खौफनाक मंजर: एक ही परिवार के 3 लोगों ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, अलग-अलग फंदे में लटकते मिले पति-पत्नी और बेटी

बता दें कि एमपी में रिश्वत लेने के मामले रोज आ रहे हैं. बावजूद इसके रिश्वतखोरों के हौसले बुलंद हैं. अधिकारी-कर्मचारी रिश्वत लेकर पकड़े जाते हैं और रिश्वत देकर छूट भी जाते होंगे, क्योंकि इनके खिलाफ ज्यादा कुछ कार्रवाई तो होती नहीं है ? हालांकि अब देखना यह होगा इनके खिलाफ क्या कुछ कार्रवाई की जाती है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus