जिले के खंड शिक्षाधिकारियों को कलेक्टर ने जारी किया नोटिस, तीन दिन में मांगा जवाब, कड़ी कार्रवाई करने की दी चेतावनी

जशपुर- जशपुर जिले के आठों खंड के शिक्षा अधिकारियों को आय, जाति, निवास प्रमाण-पत्र जारी करने में कोताही बरते जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. कलेक्टर निलेशकुमार महादेव क्षीरसागर ने यह नोटिस 6वीं से 12वीं तक अध्ययनत बच्चों को आय, जाति, निवास प्रमाण-पत्र जारी करने में लापरवाही बरतने के चलते दी गई है. कलेक्टर ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को 3 दिन के भीतर नोटिस का जवाब देने को कहा है. समयावधि में जवाब न देने की स्थिति में कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है.

गौरतलब है कि कक्षा 6वीं से 12वीं तक अध्ययनरत अनुसूचित जाति, जनजाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों को शासन के निर्देशानुसार आय, जाति एवं निवास प्रमाण पत्र दिए जाने के निर्देश है. जशपुर जिले के सभी विकासखंडों में इस मामलें में दयनीय स्थिति को देखते हुए कलेक्टर ने जिले के समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों को नोटिस जारी किया है. खंड शिक्षा अधिकारी मिथलेश कुमार सेंगर जशपुर, एके गुरू मनोरा, केपी पटेल दुलदुला, प्रमोद कुमार भटनागर कुनकुरी, बीएस पैंकरा फरसाबहार, डीआर भगत पत्थलगांव, मनीराम यादव बगीचा व संजीव सिंह कांसाबेल को नोटिस जारी किया गया है.

आय जाति एवं निवास प्रमाण जारी कराने के मामले में जिले में सबसे दयनीय स्थिति मनोरा ब्लॉक की है. जहां अभी तक 2 प्रतिशत आय प्रमाण पत्र ही जारी किए गए है. कुनकुरी ब्लॉक में लक्ष्य के विरूद्ध 11 प्रतिशत, जशपुर में 12, कांसाबेल में 48, बगीचा में 37, पत्थलगांव में 33, फरसाबहार में 36, दुलदुला ब्लॉक में लक्ष्य के विरूद्ध अभी तक मात्र 34 प्रतिशत विद्यार्थियों का ही आय, जाति, निवास प्रमाण-पत्र जारी हो सकता है, जबकि शैक्षणिक सत्र का 2 माह ही शेष बचा है.

Back to top button
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।