किसान को साढ़े सात क्विंटल प्याज के मिले थे हजार रुपये, प्रधानमंत्री राहत कोष को दान की रकम, हरकत में आया पीएमओ, सरकार से मांगी रिपोर्ट

दिल्ली. महाराष्ट्र के एक किसान द्वारा प्याज की पूरी फसल की बिक्री से मिली मामूली रकम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेज दिए जाने की खबरों पर संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र सरकार से इस मामले में पूरी रिपोर्ट तलब की है।

नासिक जिले के निफड़ तहसील के रहने वाले संजय साठे ने अपना दुखड़ा सुनाते हुए बताया था कि उसने इस सीजन में 750 किलो प्याज का उत्पादन किया, लेकिन पिछले हफ्ते निफड़ थोक बाजार में मुझे 1 रुपये प्रति किलो का भाव मिल रहा था। किसी तरह मैंने मोल-भाव करके 1.40 रुपये प्रति किलो में सौदा तय किया और 750 किलो प्याज के बदले मुझे 1064 रुपये मिले। उल्लेखनीय है कि देश के कुल प्याज उत्पादन की 50 फीसदी पैदावार उत्तरी महाराष्ट्र के नासिक जिले में ही होती है।

बता दें कि साठे उन चुनिंदा ‘प्रगतिशील किसानों’ में थे, जिन्हें 2010 में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के दौरान उनसे संवाद करने के लिए केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा चुना गया था।

साठे ने कहा था कि महीनों की मशक्कत का ऐसा फल मिलने पर तकलीफ होती है। इसलिए मैंने विरोधस्वरूप 1064 रुपये प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष में दान कर दिया। मैंने अतिरिक्त 54 रुपये मनी ऑर्डर से भेजे हैं। उन्होंने कहा था कि वह किसी राजनीतिक दल से ताल्लुक नहीं रखते, लेकिन किसानों के प्रति सरकारी उपेक्षा से नाराज हैं। मनी ऑर्डर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित करते हुए 29 नवंबर को भेजा गया।

विज्ञापन

धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।