whatsapp

महिलाओं का मोटापा : गंभीर बीमारी का सबसे बड़ा कारण, इन समस्याओं का होता है अधिक खतरा …

अनियमित आहार और लाइफस्टाइल के साथ कम होती शारीरिक गतिविधियों के कारण पुरुष और महिला दोनों में वजन बढ़ने की समस्या देखी जा रही है. कई सारी बीमारियों के लिए मोटापा को प्रमुख जोखिम कारक के तौर पर देखा जा रहा है. पुरुष और महिला, दोनों के लिए मोटापे की समस्या काफी जटिलताओं भरी हो सकती है, हालांकि महिलाओं में यह समस्या अधिक परेशानियों का कारण बन सकती है. अध्ययनों से पता चलता है कि सामान्य से अधिक वजन होना हृदय रोग, डायबिटीज और गठिया जैसी समस्याओं का कारण बन सकता है, वहीं पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इन समस्याओं का खतरा अधिक देखा गया है.

महिलाओं को सबसे अधिक खतरा क्या है

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक आहार संबंधी गड़बड़ी से अधिक वजन का स्वास्थ्य के लगभग हर पहलू पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. महिलाओं में यह प्रजनन और प्लोमोनरी फंक्शन को भी प्रभावित कर सकती है. विशेषज्ञ सभी लोगों को वजन को नियंत्रित रखने वाले उपाय करते रहने की सलाह देते हैं. आइए जानते हैं कि वजन अधिक होने से महिलाओं में किस तरह की समस्याओं का जोखिम अधिक हो जाता है? Read More – सर्दियों में बुजुर्ग बार-बार जाते हैं Toilet, तो करें ये उपाय, नहीं होगी उनकी नींद खराब …

पीसीओएस का बढ़ जाता है खतरा

स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं, जिन महिलाओं का वजन अधिक होता है, उनमें अन्य महिलाओं की तुलना में पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम होने का खतरा अधिक होता है. मोटापा के कारण महिलाओं में प्रजनन संबंधी हार्मोन की असमानताओं के कारण यह समस्या होती है. पीसीओएस के कारण मासिक धर्म की असमानता, मुंहासे, शरीर में बाल अधिक होने और कुछ स्थितियों में प्रजनन की दिक्कतें भी हो सकती हैं.

महिलाओं में गठिया की समस्या

मेनोपॉज के बाद शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों के कारण महिलाओं में पुरुषों की तुलना में गठिया की समस्या का जोखिम अधिक होता है. वहीं अगर आप मोटापे की शिकार हैं तो इसका खतरा और भी बढ़ जाता है. मोटापा बढऩे के कारण आपके घुटनों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता जिससे ऑस्टियोआर्थराइटिस विकसित होने की आशंका बढ़ जाती है. यही कारण है कि महिलाओं को वजन को नियंत्रित करने पर विशेष ध्यान देने की सलाह दी जाती है. Read More – Shalabhasan Benifits : शरीर को ऑल राउंड स्ट्रेच और रिलैक्स करे शलभासन, जानिए इस आसन की विधि और इसके फायदे …

व्यायाम, पर्याप्त नींद, तनाव मुक्त होना जरूरी

वजन को नियंत्रित रखने के लिए लगातार प्रयास करते रहने की जरूरत होती है. वजन को स्वस्थ बनाए रखने के लिए स्वस्थ आहार का पालन करना, पर्याप्त व्यायाम करना, पर्याप्त नींद लेना और तनाव को नियंत्रित करना बहुत आवश्यक माना जाता है. विशेषकर जंक फूड्स, मीठे पेय या सोडा और मीठी चीजों का सेवन कम करना चाहिए. दिनचर्या में योग-व्यायाम को शामिल करके वजन को कंट्रोल करना आसान हो जाता है.

Related Articles

Back to top button