सरपंच और रोजगार सहायक पर अधिकारी मेहरबान, मनरेगा में गड़बड़ी साबित होने के बाद भी कार्रवाई से गुरेज…

रोहित कश्यप, मुंगेली। लोरमी तहसील के सूकली पंचायत में सरपंच और रोजगार सहायक के कारनामें से त्रस्त ग्रामीणों की शिकायत पर अधिकारी भी तवज्जो नहीं दे रहे हैं. नाराज ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों पर सरपंच एवं दोषियों को बचाने का आरोप लगा रहे हैं.

सूकली पंचायत के रहवासियों ने सरपंच नोहर सिंह राजपूत के विरुद्ध मनरेगा कार्य को जेसीबी से कराने के साथ कई कार्यों में धांधली व अनियमितता को लेकर शिकायत की थी. इस पर कलेक्टर के निर्देश पर जिला पंचायत सीईओ रोहित व्यास जांच कराई, जिसमें शिकायतों की पुष्टि हुई थी. इसके बाद जिला पंचायत सीईओ ने सरपंच के विरुद्ध कार्रवाई के लिए अनुविभागीय अधिकारी लोरमी को रिकव्हरी के साथ धारा-40 के तहत कार्रवाई के लिए अनुशंसा की थी.

इसे भी पढ़ें : टूटा महागठबंधन, बिहार में कांग्रेस अकेले लड़ेगी 2024 लोस का चुनाव…

लेकिन महीनों बीतने के बाद भी जिला पंचायत सीईओ का निर्देश कागजों में धूल खा रहा है. जांच में शिकायत की पुष्टि होने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से नाराज ग्रामीण अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों पर दोषियों को बचाने का आरोप लगा रहे हैं. हालांकि, लोरमी जनपद सीईओ अनुराधा अग्रवाल ने इस दिशा में कार्रवाई की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की बात जरूर कही है. वहीं जिला सीईओ रोहित व्यास ने कहा है कि निर्देश के बावजूद कार्रवाई नहीं होना गंभीर मसला है. इसकी तस्दीक कराने के बाद वे कार्रवाई को आगे बढ़ाएंगे.

इसे भी पढ़ें : जाने कितनी प्रभावी है फाइजर की कोरोना वैक्सीन… आपके 5 से 11 साल के बच्चों को लगने वाली है

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।