हराम की बैठे-बैठे खा रहे शिवराज के अधिकारी: पेड़ों की अवैध कटाई की शिकायत की, तो रेंजर बोला- मैं सुरक्षा नहीं करता, बैठे-बैठे हराम की खा रिया हूं, देखें VIDEO

संदीप शर्मा,विदिशा। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के अधिकारी घर में हराम की बैठे-बैठे ही खा रहे हैं. कहने को तो सरकारी नौकरी करते हैं, लेकिन काम कुछ नहीं करते हैं. भला कोई शिकायत भी करे, तब भी वो अधिकारी कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाते हैं. ऐसा हम नहीं कर रहे हैं, बल्कि खुद अधिकारी बोल रहे हैं कि मैं सुरक्षा नहीं करता, बैठे-बैठे हराम की खा रिया हूं. सोशल मीडिया पर एक रेंजर का ऑडियो तेजी से वायरल हो रहा है.

दरअसल प्रदेश सरकार पेड़ों को बचाने और लगाने का भरपूर प्रयास कर रही है. वही प्रशासन के अधिकारी-कर्मचारी ही इसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं. विदिशा जिले में पिछले कई वर्षों से वन विकास निगम की लापरवाही के कारण कई हेक्टेयर भूमि पर अवैध अतिक्रमण के साथ-साथ पेड़ों की अवैध कटाई भी हो रही है. जो नए पेड़ लगाए गए हैं, उनकी भी लगातार चोरी हो रही है.

मुख्यमंत्री जी देख रहे हैं! आपके मंत्री बिसाहूलाल सिंह कह रहे सवर्ण महिलाओं को घर से खींचकर निकालो बाहर’, फिर देखिए VIDEO

वन विकास निगम के कर्मचारी भी लापरवाह नजर आ रहे हैं. जिस कारण सागौन की लकड़ी तस्करों को चोरी करने का मौका मिल रहा है. स्थानीय लोग जब इसकी शिकायत करते हैं, तो अधिकारी-कर्मचारी इसको गंभीरता से नहीं लेते है. उल्टा हराम की बैठे-बैठे खाने की बात कहने सुनाई पड़ते हैं. ऐसे जंगल सुरक्षित कैसे बचेगा.

VIDEO: स्वच्छ शहर का तमगा लेने वाले का ये हाल, शराब दुकान के बाहर फैली थी गंदगी, CMO ने सेल्समैन को थमा दिया 5 हजार का चालान

दक्षिण वन विकास निगम के रेंजर विनोद तिवारी का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें एक स्थानीय निवासी लटेरी रेंजर विनोद तिवारी से जंगल में कटे पेड़ों की शिकायत कर रहा है. जिस पर रेंजर का बेतुका बयान दे रहे हैं. रेंजर कह रहा है कि मैं सुरक्षा नहीं करता हूं, बैठे-बैठे हराम की खा रिया हूं. ऐसा कर रेंजर सीएम शिवराज सिंह चौहान के एक पेड़ लगाने के सपने को भी चकनाचूर कर रहा है. अब देखना यह होगा कि इस मामले में क्या कुछ कार्रवाई की जाती है.

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।