50 फीसदी वोटों की जांच के बाद घोषित हों नतीजे, विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट से की मांग

दिल्ली. आगामी लोकसभा चुनाव से पहले ईवीएम का मुद्दा एक बार फिर गरमाने लगा है क्योंकि चुनाव से पहले 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट से मांग की है कि चुनावी नतीजों से पहले 50 फीसदी वोटिंग की जांच बैलेट पेपर से कराई जाए।

बता दें कि कई विपक्षी पार्टियां काफी समय से ईवीएम में गड़बड़ी की बात कहते हुए इसके बजाय मत पत्र बैलेट पेपर से चुनाव कराए जाने की मांग कर रही हैं। इस मामले को लेकर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

हालांकि चुनाव आयोग इसे नकार चुका है और वोटिंग ईवीएम से ही होनी है लेकिन अब देखना है कि इन विपक्षी पार्टियों को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलती है या नहीं? इस बार के लोकसभा चुनाव में ईवीएम के साथ हर मतदान केंद्र वीवीपीएटी का भी इस्तेमाल किया जाएगा। साथ ही इस बार ईवीएम में चुनाव चिन्ह्र के साथ-साथ उम्मीदवार की तस्वीर भी होगी। कोर्ट जाने वाली पार्टियों में कांग्रेस, चंद्रबाबू नायडू की तेलुगु देशम पार्टी, शरद पवार की एनसीपी, अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी, वामपंथी पार्टियां, समाजवादी पार्टी और मायावती शामिल हैं।

विज्ञापन

Close Button
Close Button
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।