गोठान कार्य में लापरवाही बरतनी पड़ी लापरवाही, कलेक्टर ने पंचायत सचिव को किया निलंबित

सुप्रिया पाण्डेय, रायपुर। कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने बुधवार को धरसींवा विकासखण्ड के ग्राम मटिया,जरौंदा और निलजा के गोठानों व सारागांव के धान चबूतरा तथा पवनी के स्टॉप डैम के कार्यों का निरीक्षण किया. इस दौरान कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने ग्राम मटिया में गोठान की अव्यवस्था और आधारभूत कार्य नहीं होने पर गंभीर नाराजगी व्यक्त करते हुए पंचायत सचिव को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए. इस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ गौरव कुमार सिंह ने पंचायत सचिव देव कुमार यादव को स्थल पर ही निलंबन आदेश जारी किया.

Close Button

कलेक्टर डॉ भारतीदासन ने गोठानों का निरीक्षण करते हुए कहा कि गोठान के लिए शासन द्वारा निर्धारित कार्ययोजना के अनुरूप कार्य किया जाए. संबंधित अधिकारी कार्यशैली में सुधार करें, काम मे लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. ग्रामीण पशुओं को अनिवार्य रूप से गोठानों में लाए. पशुओं के गोठान में आने से खुले में चराई से मुक्ति मिलने के साथ-साथ पशुओं के सुरक्षा और उचित देखभाल हो सकेगा.

गोठान को शासन के मंशानुरूप बहुआयामी केंद्र के रूप में विकसित किया जाना है. उन्होंने कहा कि आगामी 20 जुलाई से गोठनों में गोधन न्याय योजना के तहत गोबर की खरीदी की जानी है. उन्होंने गोबर के संग्रहण के लिए गौठान में पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए. गोठानों से महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं को स्वयं के आर्थिक स्त्रोत को बढ़ाने का अवसर प्राप्त हो सकेगा.

गोठान में पशुओं के लिए चारा और पानी की पर्याप्त व्यवस्था हो,इसके लिए चारागाह में नेपियर घास तत्काल लगाने के निर्देश दिए. इस दौरान उन्होंने गोेठान में उपस्थित स्व-सहायता समूह की महिलाओं और ग्रामीणों से गोठान को विकसित करने तथा अन्य समस्याओं के बारे में चर्चा कर संबंधित अधिकारियों को निराकृत करने के निर्देश दिए. इसी तरह ग्राम सारागांव में बन रहे धान चबूतरा के निर्माण कार्य को यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए. इसी तरह ग्राम पवनी में नाला जीणोद्धार के लिए बनाए गए स्टॉप डैम का भी निरीक्षण किया.

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ गौरव कुमार सिंह ने कहा कि गौठान में पानी की सुविधा के अनुरूप स्व-सहायता समूह की महिलाएं बाड़ी में सब्जी लगाए. गौठान में निर्मित किये जा रहे वर्मी खाद और अन्य दैनिक उपयोग के लिए निर्मित सामग्री के उपयोग के लिए सभी को प्रेरित किया जाए. इससे स्व-सहायता समूह की महिलाओं की आय में वृद्धि होने के साथ-साथ गौठान समिति को आय का स्त्रोत बन सकेगा. गोठान से आय सुनिश्चित हो जाने के बाद समूह की महिलाओं की संख्या बढाई जाएगी. गौठान में बहुत सी गतिविधि संचालित किया जाना है.

इससे रोजगार के अवसर निर्मित होंगे. गोठान में पशुओं के एकत्रित होने से फसल को बचाने में मदद मिलेगी. इसके अतिरिक्त गौठान में आवश्यक सभी व्यवस्थाए करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए. निरीक्षण के दौरान गांव के सरपंच,पंचगण, धरसींवा जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नीला राम पटेल,संबंधित अधिकारी-कर्मचारी सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण निरीक्षण स्थल पर उपस्थित थे.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।