कोरोना के खिलाफ संघर्ष में कवि और साहित्यकार भी आए आगे,कर रहे जरूरतमंदों की मदद

रोहित कश्यप,मुंगेली।साहित्यकार जब अपनी बात कलम से कहता है तो समाज को अपनी ओर कविता, व्यंग्य, कहानी से अपनी ओर आकृष्ट कर लेता है । अपनी कविता से जनमानस के मन के भाव को समझ स्वयं को उनके हृदय में अंकित कर देने में सफल हो जाता है । लेकिन देश में इस समय संकट की परिस्थिति में मुंगेली के उन्हीं साहित्यकारों ने सहायता के लिए हाथ बढाया ।

साहित्यकारों ने इस बार कलम से नहीं बल्कि अपनी संवेदनशीलता, अपनी उदारता और सहयोग से लोगों का ध्यान अपनी ओर आकृष्ट किया । नगर के अलग-अलग साहित्यिक संस्था ने संयुक्त रूप से अपना सहयोग नगर के उन लोगों के लिए किया, जिन्हें कोरोना वायरस संकट के कारण लाकडाउन से दैनिक जीवन में समस्या आ रही है । नगर में इन दिनों ‘प्रयास अ स्माल स्टेप’ नामक संस्था दैनिक रूप से जरूरतमंद गरीब लोगों को सुबह-शाम भोजन की व्यवस्था करती है ।

नगर के वरिष्ठ साहित्यकार कृष्ण कुमार भट्ट , डॉ प्रेम कुमार वर्मा, डॉ अजीज रफीक, डॉ चंद्रशेखर सिंह, मनोज अग्रवाल ने चिंतन करने के पश्चात यह निर्णय लिया कि सभी सहयोग करें और उस संस्था को राशि समर्पित कर दें जो सुबह सायं गरीब लोगों को भोजन की व्यवस्था करती है । इस तरह मुंगेली नगर के साहित्यकारों ने कोरोना वायरस के कारण लाकडाऊन की परिस्थिति में अपनी सकारात्मक सहयोग की भावना का परिचय देते हुए 22,101=00 रूपये (बाईस हजार, एक सौ एक रूपये) एवं 70 लीटर दूध जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रयास अ स्माल स्टेप संस्था को समर्पित किया ।

इस अवसर पर सोशल डिस्टेशिंग का ध्यान रखा गया, इस अवसर पर नगर के ओजस्वी कवि व आगर हिन्दी साहित्य समिति मुंगेली के संयोजक देवेन्द्र परिहार व हास्य व्यंग्य कवि देव गोस्वामी संग अभिषेक जैन उपस्थित रहे । इस अवसर पर कवि देवेन्द्र परिहार ने कहा कि -” समाज हमेशा कवियों की कविता ही नहीं अपितु उनके द्वारा किये जा रहे कार्यों का भी सूक्ष्म अवलोकन करते रहता है । नगर के सभी वरिष्ठ व नवोदित साहित्यकार सहयोग की भावना ले प्रेरित रहे । उन सबके सहयोग से हम यह छोटा सहयोग कर सके ।”

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।