महिला सरपंच से नहीं जमी तो रोजगार सहायक ने घर में फिंकवाया नक्सलियों के नाम से धमकी भरा पत्र, पुलिस ने सहयोगियों के साथ किया गिरफ्तार…

सुदीप उपाध्याय, बलरामपुर। महिला सरपंच को नक्सलियों के नाम से धमकी भरा खत लिखकर एक लाख रुपए मांगने के मामले में पुलिस ने रोजगार सहायक समेत चार आरोपियों को किया गिरफ्तार किया है. मामले का खुलासा पुलिस अधीक्षक ने किया.

Close Button

बलरामपुर जिले के चांदो थाना अंतर्गत 3 फरवरी को खजुरियाडीह की सरपंच संगीता पैकरा ने शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके घर के सामने 2 और 3 फरवरी के दरमियान अज्ञात लोगों ने नक्सलियों के नाम पर धमकी भरा खत फेंककर 1 लाख रुपए की मांग की थी. वहीं पुलिस में शिकायत दर्ज कराने पर 6 इंच छोटा करने की भी धमकी दी गई थी.

इस पर आईजी सरगुजा आरपी साय, पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम व नक्सल ऑपरेशन के डीएसपी डीके सिंह, रामानुजगंज एसडीओपी नितेश गौतम के नेतृत्व में जांच करते हुए पुलिस रोजगार सहायक समेत चार आरोपियों को धर दबोचा. फिलहाल एक आरोपी फरार बताया जा रहा है.

पुलिस अधीक्षक रामकृष्ण साहू के अनुसार सरपंच संगीता पैकरा व रोजगार सहायक अजय जयसवाल में आपसी समन्वय नहीं था, जिसकी वजह से रोजगार सहायक ने योजनाबद्ध तरीके से घटना को अंजाम दिया था. कादिर अंसारी ने भंडरिया झारखंड से नक्सली पर्चा लाकर पुष्पनाथ को दिया था, जिसे उसने महिला सरपंच के घर पर फेंका था. इसके बाद सरपंच के पति को नक्सली लीडर विमल के नाम पर कादिर फोन करता रहा. इस मामले में पकड़ा गया आरोपी दिक्कू पूर्व में जेल में निरूद्ध रहा है, जिसकी मुलाकात विमल से हुई थी.

इस मामले में सबसे खास बात यह है कि नक्सली पर्चा फेंकने वाले पुष्पनाथ को 20 हजार देने का सौदा हुआ था और अब इस मामले में नक्सली नेपाली का नाम भी सामने आया है.

Related Articles

Back to top button
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।