अकेलेपन से परेशान युवक मौत को लगा रहा था गले, फरिश्ता बनकर पहुंची पुलिस ने बचाई जान…

हेमंत शर्मा रायपुर। कहते हैं ना कि नियती को कोई नहीं टाल सकता. यह हकीकत रायपुर में किराए से रह रहे धमतरी निवासी के साथ सटिक साबित हुई, जिसने आत्महत्या के लिए कदम तो उठाया, लेकिन समय रहते पुलिस ने उसे बचा लिया. युवक को पुलिस ने समझाबुझाकर परिचत के सुपुर्द करते हुए देखरेख की हिदातयत दी.

Close Button

जानकारी के अनुसार, बुधवार को सुबह करीबन 10.20 बजे ग्राम बेन्द्रानवागांव के जंगल में एक व्यक्ति फांसी का फंदा बनाकर उसमें झूलने वाला था कि उसी समय बेन्द्रानवागांव निवासी सुमेश साहू, रघुवेंद्र ध्रुव व नागेश्वर नेताम की नजर उस पर पड़ी. उन्होंने तत्काल इसकी सूचना रूद्री पुलिस को दी. संयोग से रुद्री पुलिस पेट्रोलिंग करते हुए बेन्द्रानवागांव से निकल रही थी.

पेट्रोलिंग कर्मचारियों ने तत्काल मौके पर पहुंचकर सूचना देने वालों के साथ मिलकर उस व्यक्ति को फांसी लगाने से पहले ही बचा लिया. युवक को समझा-बुझाकर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया. युवक की स्थिति देख उसे समीप स्थित भटगांव उप स्वास्थ्य केंद्र ले जाकर प्राथमिक उपचार कराया. इसके बाद उसे थाना लाने पर थाना प्रभारी रुद्री युगल किशोर नाग ने समझाते हुए पूछताछ की.

युवक ने अपना नाम संजय कुमार दान बताया, जो रायपुर में किराए से रहकर प्रतिष्ठित अस्पताल में काम करता है. वहीं अपनी पत्नी के जगदलपुर के अस्पताल में नर्स होना बताया. उसने बताया कि पत्नी के साथ विगत 10 वर्षों से विवाद की वजह से मानसिक दबाव व अकेलेपन के कारण आत्महत्या की कोशिश करना बताया. इस पर पुलिस ने उसे समझाइश देकर उसके रिश्तेदार को बुलाकर सुपुर्द करते हुए उसकी देखरेख करने हिदायत दी गई.

इस प्रकार रूद्री पुलिस पेट्रोलिंग के आरक्षक राजेश चंद्राकर, नितेंद्र पांडेय, पारस सोम व रमाकांत बड़गइया ने प्राप्त सूचना पर सूझबूझ से तत्काल कार्रवाई करते हुए एक व्यक्ति को फांसी लगाकर आत्महत्या करने के पाप से बचा लिया.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।