पार्षद की सनसनीखेज हत्या का हुआ खुलासा, दो साल पुरानी रंजिश पर आरोपी ने साथियों के साथ मिलकर उतारा मौत के घाट…

दुर्ग। हथखोज क्षेत्र के पार्षद सूरज बंछोर की हफ्तेभर पहले हुई सनसनीखेज हत्या की गुत्थी सुलझ गई है. दो साल पुरानी रंजिश पर  मुख्य आरोपी ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया. पुलिस ने घटना में संलिप्त चार आरोपियों के साथ हथियार उपलब्ध कराने वाले को भी गिरफ्तार किया है.

बता दें कि हथखोज क्षेत्र के पार्षद सूरज बंछोर की रक्तरंजित लाश 15 नवंबर को हथखोज बंधवा तालाब भिलाई 03 के पास मिली थी. घटना की पड़ताल में जुटी पुलिस को स्थानीय मुखबीरों से मृतक सूरज बंछोर के साथ कई लोगों से विवाद होने की जानकारी मिली. इनमें दो वर्ष पूर्व संदेही दिनेश पाल उर्फ दीनू के साथ मृतक का विवाद एवं मारपीट की जानकारी मिली. घटना के बाद से दीनू पाल और उसके करीबी दोस्तों की पतासाजी की गई, जो घटना के बाद से फरार थे.

तकनीकी विश्लेषण के उपरांत संदेहियों के जांजगीर-चांपा में छिपे होने की सूचना प्राप्त हुई, जिस पर तत्काल सउनि राजेश पाण्डेय के नेतृत्व में आरक्षक संदीप सिंह, सत्येंद्र मंढरिया, रिंकू सोनी और शहबाज खान को जांजगीर-चांपा के लिए रवाना किया गया. स्थानीय सक्ती थाना प्रभारी रूपक शर्मा से संपर्क कर संयुक्त टीम ने तीन संदेहियों को गिरफ्तार किया गया, वहीं एक अन्य संदेही को हथखोज क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया.

पूछताछ में पता चला कि मृतक सूरज का दीनू पाल से कई कारणों से विवाद था. डेढ़-दो वर्ष दो लोगों ने दीनू पाल से मारपीट कर घायल कर दिया था. दोनों लोगों का मृतक सपोर्ट किया करता था. इसके अलावा दीन पाल को कुछ महीने पहले अवैध कट्टा रखने पर गिरफ्तार किया गया था, जो मृतक का था, लेकिन मामले में गिरफ्तार होने के बाद उसने आरोपी की कोई मदद नहीं की. यही नहीं हथखोज में पान – ठेला लगाने पर दीनू पाल को सूरज ने प्रताड़ित किया था. तब से संदेही दीनू पाल मृतक सूरज बंछोर की हत्या करने के फिराक में था.

आरोपी ने अपनी योजना को अंजाम देने के लिए अपने साथी घटना में शामिल किया. इसके साथ हत्या के लिए खुर्सीपार निवासी मोहन ने दो कट्टा उपलब्ध कराया था. 15 नवंबर को सूरज बंछोर को तालाब पार के पास अकेला पाकर दीनू ने धारदार हथियार से अपने साथियों के साथ मिलकर हत्या कर दी. मामले में दीनू उर्फ दिनेश पाल के अलावा उत्तम सोना, दीपक उर्फ भूरू साहू, लोकेश साहू और मोहन को गिरफ्तार किया है. आरोपियों के पास से 2 देशी कट्टा व 4 जिन्दा कारतूस, हत्या में प्रयुक्त धारधार कटार एवं गुप्ती और अपराध में प्रयुक्त दो मोटर साइकिल जब्त किया गया है.

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।