सियासतः पूर्व मंत्री इमरती ने बदज़ुबानी मामले पर दी सफाई, नगर परिषद अध्यक्ष चुनाव के दौरान लगे थे मुर्दाबाद के नारे

कर्ण मिश्रा,ग्वालियर। पूर्व मंत्री इमरती देवी ने बदज़ुबानी मामले पर सफाई दी है। उन्होंने बीजेपी (BJP) कार्यकर्ता से बदसलूकी मामले पर बोली कि ” हमें पता नहीं किससे विवाद हुआ,लेकिन यह भी कहूंगी की अगर कोई महिला खासकर एक एससी (SC) महिला को गाली देगा तो, किसी का मुंह चलेगा तो उनके हाथ चलेंगे। हमारे प्रत्याशी को हराने के लिए मुझे टारगेट बना रहे थे। हमने अपने प्रत्याशी को 12 वोट लेकर जिता लिया”। उन्होंने डबरा तहसीलदार पर भी गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने तहसीलदार दीपक शुक्ला पर अपने प्रत्याशी को हराने की कोशिश का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि पिछोर नगर परिषद में हमारे प्रत्याशी को हराने के लिए तहसीलदार दीपक शुक्ला बगैर परमिशन के अंदर थे। तहसीलदार किसी के कहने पर हमारे प्रत्याशी को हराने के लिए मतदान स्थल के अंदर गए थे। मैं इसकी शिकायत सीएम से करूंगी और ज्योतिरादित्य सिंधिया से करूंगी।

दरअसल ग्वालियर के पिछोर नगर परिषद अध्यक्ष चुनाव में शनिवार को पूर्व मंत्री इमरती और भाजपा समर्थक आपस में भिड़ गए थे। इस दौरान जब एक कार्यकर्ता ने इमरती मुर्दाबाद के नारे लगा दिए तो गुस्साई इमरती ने कहा था कि-” ज्यादा मुंह मत चलाना। मार मार कर सीधा कर दूंगी। कौन है तू, हमें जानता नहीं क्या.. साला..!

पिछोर नगर परिषद के अध्यक्ष चुनाव में इमरती समर्थक रामजानकी ने BJP के दूसरे गुट के नवल भार्गव को 9 वोटों से हरा दिया है। जब वहां इमरती पहुंची तो नवल के भाई उमेश भार्गव ने उनके खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाना शुरू कर दिए। इस पर सिंधिया समर्थक को भी गुस्सा आ गया। वहीं इमरती देवी भी बदज़ुबानी पर उतर आई। गुस्से में आकर इमरती बोली कि- ” ज्यादा मुंह मत चलाना। मारमार कर सीधा कर दूंगी। कौन है तू, हमें जनता नही.. साला..इसके बाद पूर्व मंत्री ने पुलिसकर्मियों से कहा कि इसे हटाओ यहां से तो पुलिस उमेश भार्गव को थाने ले गई। एक घंटे बैठाने के बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया। इसका एक VIDEO भी सामने आया था।

पिछोर नगर परिषद चुनाव के दौरान इमरती ने डबरा तहसीलदार को भी हड़काकर भगा दिया था। उन्होंने कलेक्टर से बात कर तहसीलदार को भगाया। इमरती ने कहा कि-” तुम्हारी ड्यूटी नही है तो डबरा चलो, निकलो यहां से”। हालांकि इमरती देवी का कहना है कि जब तहसीलदार की ड्यूटी नही तो वो निर्वाचन में कैसे पहुंचे। ये पहला मौका नहीं है जब इमरती देवी ने बदज़ुबानी की हो। वे अपने बयानों से अक्सर सुर्खियों में रहती है, हालांकि इस मामले पर उन्होंने सीएम शिवराज से लेकर केंद्रीय मंत्री ज्योतिराज सिंधिया तक से शिकायत करने की बात कही है।

‘कारम बांध’ बचाने प्रशासन का टोटकाः सुहागन महिलाओं से मां नर्मदा और कारम नदी में सुहाग की सामाग्री प्रवाहित करवाई, प्रार्थना की… हे मां! संकट से तारो, देखें वीडियो

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus

Related Articles

Back to top button