Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

अमृंताशी जोशी, भोपाल। मध्यप्रदेश में हर घर तिरंगा अभियान पर सियासत जारी है। कांग्रेस द्वारा राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख डॉ मोहन भागवत को तिरंगा भेंट करने के ऐलान के बाद एमपी की राजधानी भोपाल में सियासी पारा गर्म है। पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के मद्देनजर कांग्रेस मुख्यालय को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया है, वहीं मोहन भागवत जहां ठहरे हैं वहां पर भी बड़ी संख्या के जवान तैनात है। इस मामले को लेकर पुलिस और कांग्रेस नेताओं के बीच लगातार बातचीत चल रही है।

बता दें कि आरएसएस प्रमुख डॉ मोहन भागवत एमपी दौरे पर है। वहीं कांग्रेस ने डॉ भागवत को तिरंगा भेंट करने का ऐलान किया है। कांग्रेस का 5 सदस्य प्रतिनिधि मंडल राष्ट्रीय ध्वज के साथ इतिहास की एक किताब भी भागवत को भेंट करने का ऐलान किया है। कांग्रेस नेता पीपुल्स मॉल में आयोजित एक कार्यक्रम में भागवत को भेंट करने वाले है। इसे देखते हुए कांग्रेस मुख्यालय के अंदर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद है।

पुलिसकर्मी और कांग्रेस के बीच बातचीत हो रही है। पुलिस कर्मियों ने कांग्रेसियों को कहा कि व्यापमं के आगे उन्हें नहीं जाने दिया जाएगा। कांग्रेस नेता मोहन भागवत को झंडा भेंट करने की मांग कर रहे हैं। बातचीत में नहीं हुआ मामले का समाधान। कांग्रेस कार्यालय के बाहर तीन बजे तक भारी पुलिस बल तैनात था।

पुलिसकर्मी कांग्रेसियों को मुख्यालय में ही रुकने की समझाइश दे रहे हैं । कांग्रेसी अपनी मांगो पर अड़े हैं और कहा कि हम झंडा भेंट करने जरूर जाएंगे। कांग्रेसियों को व्यापमं पर रोका जाएगा, नहीं रुके तो उसके बाद गिरफ्तारी होगी।

इधर कांग्रेस प्रवक्ता संगीता शर्मा ने पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया है। कहा कि पुलिस ने कांग्रेस दफ्तर को चारों तरफ से घेर लिया है। मेरे कक्ष में भी पुलिस आकर बैठ हुई है। कांग्रेस प्रवक्ताओं की निगरानी पुलिस कर रही है। उन्होंने सवाल उठाया कि किसी को राष्ट्रीय ध्वज देना क्या देशद्रोह है?

पूर्व सीएम कमलनाथ का ट्वीट

जब पूरा देश आजादी की हीरक जयंती मना रहा है, तब मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को तिरंगा भेंट करने से रोक रही है। लेकिन इस कदम का स्वागत करने के बजाए सुबह से ही मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय को पुलिस ने घेर लिया। पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का रास्ता रोक लिया और तिरंगा भेंट नहीं करने दिया। मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि आजाद भारत में क्या भाजपा की सरकार में राष्ट्रध्वज भेंट करना अपराध है?

Read more- Health Ministry Deploys an Expert Team to Kerala to Take Stock of Zika Virus