CM भूपेश बघेल की प्रेसवार्ता : PM मोदी के पंजाब दौरे को लेकर CM ने उठाए सवाल, कहा- क्या PMO को मौसम की जानकारी नहीं थी?

सीएम भूपेश ने कहा - केंद्र सरकार की जांच एजेंसिया विरोधी दलों के खिलाफ काम रही है, पीएम की सुरक्षा से खिलवाड़ उनकी ही एजेंसियां कर रही है

रायपुर. प्रधानमंत्री की सुरक्षा की चूक को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रेसवार्ता की है. सीएम बघेल ने प्रेसवार्ता कर प्रधानमंत्री की सुरक्षा पर सवाल खड़े किए हैं. सीएम भूपेश ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा जरूरी है. इसमें किसी भी तरह से समझौता नहीं किया जा सकता है.

बता दें कि सीएम भूपेश ने पीएम के कार्यक्रम को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या पीएमओ को मौसम की जानकारी नहीं थी? क्या दिल्ली से जब पीएम हवाई जहाज से उड़े तब भी मौसम की जानकारी नहीं थी. जब बठिंडा एयरपोर्ट पर उतरे तब भी मौसम की जानकारी नहीं थी? अचानक एयरपोर्ट से बाय रोड जाने का फैसला पीएम मोदी ने क्यों लिया?

सीएम भूपेश ने कहा कि पंजाब सरकार ने पूरी सुरक्षा व्यवस्था की थी. कार्यक्रम स्थल और मार्ग पर जवान तैनात किए थे. जहां पीएम की सुरक्षा के लिए 20 आईपीएस और 10 हजार जवानों की ड्यूटी लगी थी.

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री की लोकप्रियता गिर रही है, इसलिए ये सब ड्रामा किया जा रहा है. केंद्र सरकार की जांच एजेंसिया विरोधी दलों के खिलाफ काम रही है, पीएम की सुरक्षा से खिलवाड़ उनकी ही एजेंसियां कर रही है.

सीएम भूपेश ने कहा कि जब पीएम के कार्यक्रम में भीड़ थी ही नहीं और न ही उनके ऊपर हमला हुआ. फिर किस आधार पर पीएम मोदी कह रहे हैं कि वे जिंदा लौट आए हैं. सीएम भूपेश ने कहा कि प्रधानमंत्री की लोकप्रियता घट रही है, इसलिए ये सब ड्रामा किया जा रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि पंजाब और यूपी में चुनाव को ध्यान में रखकर पीएम मोदी इस मामले को मुद्दा बनाकर राजनीति कर रहे हैं. पीएम मोदी पंजाब में एक दलित मुख्यमंत्री को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं.

सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए सीएम भूपेश ने कहा कि पीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी और आईबी के हाथों में है तो क्या सुरक्षा एजेंसियों की मौसम खराब होने की जानकारी पीएम के कार्यक्रम से पहले नहीं मिली. केंद्र सरकार की जांच एजेंसिया विरोधी दलों के खिलाफ काम करने में जुटी हुई हैं. पीएम की सुरक्षा से खिलवाड़ उनकी ही एजेंसियां कर रही हैं.

इसे भी पढ़ेंः अब पकड़ में आएगा ओमीक्रॉनः नए वेरिएंट की पहचान करना हुआ आसान, ICMR ने इस किट को दी मंजूरी

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!