Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

नई दिल्ली। रेल मंत्रालय के अनुसार गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने वाले नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को रेलवे की नौकरी से आजीवन रोक का सामना करना पड़ सकता है. गौरतलब है कि रेलवे नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों ने रेलवे ट्रैक पर विरोध-प्रदर्शन, ट्रेन संचालन में बाधा, रेलवे संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने का प्रयास किया. कई उम्मीदवार ऐसी बर्बरता व गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त पाए गए हैं.

Republic Day 2022: भारी सुरक्षा घेरे में दिल्ली, राजपथ के आसपास लगाए गए 300 कैमरे

 

रेल मंत्रालय ने मंगलवार को सार्वजनिक नोटिस जारी कर इसमें उल्लेख किया है कि इस तरह की गुमराह करने वाली गतिविधियां अनुशासनहीनता का उच्चतम स्तर हैं, इसलिए ऐसे उम्मीदवारों को रेलवे सरकारी नौकरी के लिए अनुपयुक्त बनाती हैं. ऐसी गतिविधियों के वीडियो की विशेष एजेंसियों की मदद से जांच की जाएगी और गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने वाले उम्मीदवारों पर पुलिस कार्रवाई के साथ-साथ रेलवे की नौकरी पर आजीवन प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है.

गणतंत्र दिवस परेड : राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, सेना की शक्ति देख लोग दंग

 

रेलवे की ओर से जारी इस नोटिस में आगे उल्लेख किया गया है कि रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) सत्यनिष्ठा के उच्चतम मानकों को बनाए रखते हुए निष्पक्ष और पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया संचालित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. रेलवे नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे गुमराह न हों या ऐसे तत्वों के प्रभाव में न आएं, जो अपने स्वार्थ को पूरा करने के लिए उनका इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं. गौरतलब है कि एक दिन पहले ही रेलवे भर्ती बोर्ड की गैर-तकनीकी लोकप्रिय श्रेणियों की परीक्षा 2021 में शामिल हुए छात्रों ने बिहार के पटना और आरा रेलवे स्टेशन पर परिणाम के खिलाफ धरना दिया व जमकर प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने सोमवार को करीब 5 घंटे तक ट्रेन को रोक दिया. 15 जनवरी को जारी हुए सीबीटी 1 परीक्षा के लिए आरआरबी एनटीपीसी परिणाम 2021 से परीक्षार्थी सन्तुष्ट नहीं थे.

 

">
Share: