पुनिया ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीएम और स्वास्थ्य मंत्री के साथ की बैठक, सिंहदेव ने लॉकडाउन 14 दिन और बढ़ाने की रखी मांग

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय महासचिव व छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री भूपेश, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, मंत्रियों, जिला अध्यक्षों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों के साथ विस्तृत रूप से बैठक ली. बैठक के दौरान स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने बैठक में उपस्थित सभी लोगों को कोरोना वायरस के संबंध में छत्तीसगढ़ की वास्तविक स्थिति और आने वाले दिनों में स्वास्थ विभाग की तैयारियों की भी विस्तृत जानकारी दी.

लॉकडाउन 14 दिन और बढ़ाने की मांग

वीडियो कांफ्रेंसिंग में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने लॉकडाउन को 14 दिन और आगे बढ़ाने की मांग की. उन्होंने कहा कि 21 दिन के लॉकडाउन की वजह से संक्रमण का ग्राफ घटा है और ऐसे में यदि लॉकडाउन को खोल दिया गया, तो संक्रमण का खतरा बढ़ जाएगा. स्वास्थ्य विभाग ने भी कहा है कि अप्रैल और मई के शुरुआत तक कोरोना वायरस का असर रहेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्यमंत्री की बात पर अपनी सहमति जताई. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर लॉकडाउन नहीं खोलने की बात कही थी.

स्वास्थ्य विभाग की हुई तारीफ

प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग की कामों की सराहना की औऱ आने वाले समय में उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों को देखते हुए उत्साहवर्धन भी किया. पीएल पुनिया ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव और पूरे स्वास्थ्य विभाग की जमकर तारीफ भी की.

प्रदेश कार्यकारिणी की हुई पहली बैठक

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकान की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कार्यकारिणी और जिलाध्यक्षों की बैठक ली. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू, अमरजीत भगत, पूर्व जिला अध्यक्ष शामिल रहे. कोरोना के रोकथाम के लिए समिति गठित की गई है उस पर चर्चा की गई. फील्ड में यदि कोई समस्या आती है, तो उस पर समाधान और सुझाव पर चर्चा जारी है.

मोहन मरकाम ने कहा कि आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पीएल पूनिया, मुख्यमंत्री और सभी मंत्री, सभी जिला अध्यक्षों से 121 चर्चा हुई है. जो कमियां है उसे हमने नोट किया है और आने वाले दिनों में और बेहतर क्या काम कर सकते हैं उसके बारे में पीएल पुनिया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने निर्देश दिया है. छत्तीसगढ़ राज्य पूरे देश के लिए एक उदाहरण है. एक नजीर बन गया है. हम कोरोना जैसे वैश्विक महामारी को रोकने में सफल हुए हैं. पूरा देश और विश्व छत्तीसगढ़ का नाम ले रहा है. हमारे यहां के डॉक्टर, सभी स्वयंसेवी संस्थाएं, संगठन के लोग, विधायक और सभी लोगों का संयुक्त प्रयास है. जिनके कारण हम इस जंग में जीतते हुए नजर आ रहे हैं.

बैठकों को लेकर कहा कि लगातार बैठकें हो रही है. इसके बाद हम लोगों को विधायकों से भी चर्चा करनी है और उनसे भी फीडबैक और सबको मार्गदर्शन करना है. विषम परिस्थितियों में जनता की सुविधाएं जनता की सेवा हम कैसे कर सके उसके लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं कि कोई कमी न रहे और जो दूसरे प्रदेशों में फंसे हैं उनकी भी सेवा कर रहे हैं. दूसरे प्रदेशों से हमारे प्रदेश में आए हैं उनकी भी सेवा करने में जुटे हुए है. छत्तीसगढ़ की बहुत अच्छी परंपरा रही है जो भी आता है भूखा ना रहे उनकी व्यवस्था हमारी सरकार और संगठन के माध्यम से भी करने का प्रयास कर रहे हैं. इन सब बातों को लेकर हम लगातार चार-पांच घंटे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 121 चर्चा कर रहे है.

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया से की अपील करते हुए कहा कि कई लोगों के राशन कार्ड नहीं बने हैं या जो छत्तीसगढ़ के बाहर से मजदूर आए हैं, उनके लिए पार्षदों को पार्षद निधि से भी खर्च करने का अधिकार दिया जाए. इस पर मंत्री ने कहा कि बहुत से नगरीय निकायों में अपील किए गए हैं और जो यह कहता है कि मैं खर्च करना चाहता हूं, तो उन्हें आदेश है उनको हमें अनुमति है. उन्होंने कहा कि हम चाहते कोई भूखा ना रहे. जैसे केंद्र सरकार ने 2 साल तक केंद्र के मंत्रियों और सांसदों की तनख्वाह कटौती की जाएगी. उसी तरह हमारे पार्षद से लेकर सभी लोग लोगों की सेवा करेंगे कि सभी के पास पर्याप्त पैसा हो और कोई भूखा ना रहे हैं. ऐसी व्यवस्था करना चाहते हैं.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।