रमन सिंह पहले भ्रष्ट सरकार के मुखिया थे, अब झूठ और फरेब के शहंशाह बन गये- शैलेश नितिन त्रिवेदी

रायपुर. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह द्वारा भूपेश सरकार पर लगाए गए आरोपों पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि डॉ रमन सिंह पहले तो सिर्फ भ्रष्टाचार और अंतागढ़, नान घोटाले, नसबंदी कांड जैसी घटनाओं के घटित करवाने वाली सरकार के मुखिया थे. अब डॉ. रमन सिंह ने झूठ और निराधार आरोपों का सहारा लेना भी शुरू कर दिया है. रमन सिंह पहले भ्रष्ट सरकार के मुखिया थे अब झूठ और फरेब और शहंशाह बन गये. स्वयं नान घोटाले में चार अपराधियों को गवाह बनाने वाली रमन सिंह की सरकार होने के बावजूद रमन सिंह कांग्रेस की सरकार पर यह आरोप लगा रहे हैं कि यह सारा भारत जानता है कि पूर्व वित्त मंत्री और पूर्व गृह मंत्री पी. चिदंबरम को मोदी सरकार ने अपनी बेटी की हत्या की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के बयान के आधार पर गिरफ्तार किया है.

झूठ और फरेब की सरकार नहीं चलती पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि आखिर 15 साल के झूठ और फरेब का अंत छत्तीसगढ़ की जनता ने 2018 में करके दिखा ही दिया रमन सिंह बिल्कुल ठीक बोल रहे हैं झूठ और फरेब की सरकार नहीं चलती तभी तो 15 साल बाद भारतीय जनता पार्टी 15 सीटों पर सिमट कर रह गई.

रमन सिंह के डेवलपमेंट के सारे दावों को खारिज करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि डेवलपमेंट के नाम पर कमीशनखोरी और घोटालों की लूट के एक्सप्रेस-वे और स्थाई आप जैसे जीते जाते सबूत छत्तीसगढ़ की जनता के सामने हैं. विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में भाजपा द्वारा दंतेवाड़ा विधानसभा में हासिल की गई जीत के आधार पर रमन सिंह के जीत के दावे को खारिज करते हुए प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि इस बार हम दंतेवाड़ा में कांग्रेस के लिए जीत हासिल करने जा रहे हैं. दंतेवाड़ा में भारतीय जनता पार्टी ने शिवरतन शर्मा, ओपी चौधरी और अजय चंद्राकर जैसे दागदार नेताओं को जो प्रचार का जिम्मा सौंप रखा है वह भारतीय जनता पार्टी को भारी पड़ेगा. बीएमएस में करोड़ों के घोटालों को दंतेवाड़ा की पहचान बनाने के दोषी ओपी चौधरी और भाजपा सरकार हैं.

रमन सिंह द्वारा बस्तर सांसद दीपक बैज पर किए गए आक्रमण पर पलटवार करते हुए त्रिवेदी ने कहा है दीपक बेज पर एक आदिवासी नेता पर रमन सिंह द्वारा किया जा रहा प्रहार पूरी तरीके से गलत है। एक आदिवासी की भावना को सबसे बेहतर ढंग से एक आदिवासी समझ सकता है। रमन सिंह गलत तरीके से आदिवासियों के लिए जो स्थान हैं उन पर 15 साल तक काबिज रहे। लगातार बस्तर और पूरे छत्तीसगढ़ में आदिवासियों के हितों को नजरअंदाज करने का काम रमन सिंह की सरकार में हुआ है।

शैलेश नितिन त्रिवेदी ने 11 व्यक्तियों की सूची भी जारी की है, जो कि नान घोटाले में आरोपी रहे, लेकिन बाद में उन्हें रमन सिंह सरकार की पुलिस ने गवाह बना लिया, मात्र यह एक तथ्य है रमन सिंह के झूठ को पूरी तरीके से बेनकाब कर देता है-

1.गिरिश शर्मा 164

  1. जीतराम यादव 164
  2. अरविंद ध्रुव 164
  3. त्रिनाथ रेड्डी
  4. केके बारिक
  5. दिनेश चद्रवंशी
  6. हरीश सोनी
  7. आलोक चंद्रवंशी (गवाह नहीं बनाया गया लेकिन अभी भी अभियोजन उनके घर से जब्ती साबित हो रहा है)
  8. हरदीप सिंह, गवाह
  9. विशाल कुमार सिन्हा
  10. मधुरिका शुक्ला

Related Articles

Back to top button
Close
Close
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।