जोधा-अकबर पर बीजेपी विधायक का बड़ा विवादित बयान, बवाल के बाद राजपूत समाज से मांगी माफी, कांग्रेस बोली- भाजपा नेता का मानसिक संतुलन बिगड़ा

शब्बीर अहमद, भोपालः जोधा-अकबर पर दिए विवादित बयान पर हंगाम होने के बाद बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने राजपूत समाज से माफी मांगी है। शर्मा के माफी मांगने के बाद कांग्रेस ने भाजपा विधायक पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा नेता का मानसिक संतुलन बिगड़ा गया है। इसलिए वो इस तरह के बेतुके बयान दे रहे हैं।

भोपाल से भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने सफाई देते हुए कहा कि राजपूत समाज शुरू से हिंदुत्व का रक्षक रहा है। आदिकाल से आज तक क्षत्रिय वीरों की गाथाएं देश को गौरवान्वित करती रही है। मैं रामेश्वर शर्मा सदैव हिंदुत्व के रक्षक महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान की वीर गाथाओं का गौरव गान करता रहा हूं। इतिहास में भले ही अकबर को महान बताया गया हो, लेकिन मेरे लिए अकबर नहीं महाराणा प्रताप महान हैं।

शर्मा ने कहा कि दुत्व धर्म संवाद में अकबर एवं जोधा बाई के प्रसंग के वर्णन का उद्देश्य मुगलों की चालाकी और फूट-नीति का उल्लेख करना था। महाराणा प्रताप, वीर शिवाजी और पृथ्वीराज चौहान से प्रेरणा पाकर हिंदुत्व के लिए लड़ने वाला रामेश्वर शर्मा कभी राजपूत समाज पर उंगली उठा ही नहीं सकता, लेकिन फिर भी मेरे किसी शब्द से मेरे किसी भी राजपूत हिंदू भाई को किंचित मात्र भी ठेस पहुंची हो तो आपका भाई रामेश्वर शर्मा 100 बार आपके सामने झुकने को तैयार है और आपसे इसके लिए क्षमा चाहता है।

इसे भी पढ़ेः  भाजपा ने INC की दी नई परिभाषा, सोशल मीडिया पर लिखा- It’s Not even a Choice

हिंदुत्व का रक्षक बताने वाले खुद उनका अपमान कर रहेः कांग्रेस 

वहीं शर्मा के माफी मांगने के बाद कांग्रेस ने भाजपा विधायक पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि रामेश्वर शर्मा खुद को हिंदुत्व का रक्षक बताते हैं। दूसरी तरफ खुद उनका अपमान कर रहे हैं। भाजपा नेता का मानसिक संतुलन बिगड़ा गया है। इसलिए वो इस तरह के बेतुके बयान दे रहे हैं।

देखिये वीडियो

 

जानिए… विधायक ने क्या कहा 

रविवार को सागर के रविन्द्र भवन में ‘हिंदुत्व धर्म संवाद’ कार्यक्रम में रामेश्वर शर्मा ने कहा था- जोधाबाई से रिश्ता किसने किया। उनके बीच कोई प्रेम नहीं था। वो दोनों साथ में कॉलेज में नहीं पढ़े थे। कहीं कॉफी हाउस में मिले थे क्या। जब लोग सत्ता के लोभी हो जाएं और सत्ता को चाहने के लिए बेटी को दांव पर लगा दें। ऐसे लुटेरों से भी सावधान रहो। जो तुम्हारे हैं, लेकिन धर्म को धोखा दे सकते हैं। विधायक के इस विवादित टिप्पणी का वीडियो सामने आया था।

इसे भी पढ़ेः  सरस्तवी शिशु मंदिर विवादः दिग्विजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, छात्र दर्ज कराएंगे एफआईआर

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।