‘तब्लीगी इज्तिमा’ पर बीजेपी-कांग्रेस में बयानबाजीः नरेंद्र सलूजा बोले- आयोजन स्थगित हो चुका है, भाजपा ने पहले धर्म पर लोगों को बांटा अब अधिकारियों को बांट रहे

सदफ हामिद, भोपाल। कोरोना के नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’ ( Coronavirus New Variant Omicron) के कारण राजधानी भोपाल में होने वाले मुस्लिम समाज का दुनिया का दूसरा बड़ा धार्मिक समागम आलमी तब्लीगी इज्तिमा (Tablighi Ijtima) पर इस बार भी ग्रहण लग गया है। वहीं आयोजन को लेकर राजनीति बयानबाजी भी शुरू हो गया है। बीजेपी नेता डाॅ. हितेष बाजपेयी और विधायक रामेश्वर शर्मा के इज्तिमा को स्थगित करने की मांग पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस कांग्रेस मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि बीजेपी को जानकारी नहीं है तो मैं बता दूं कि आयोजन स्थगित हो चुका है। बीजेपी ने पहले धर्म के आधार पर लोगों को बांटा अब अधिकारियों को बांट रहे हैं। 

इसे भी पढ़ेः BIG NEWS: ओमीक्रोन के कारण भोपाल में ‘तब्लीगी इज्तिमा’ पर संकट!, बीजेपी नेताओं ने एसीएस सुलेमान से आयोजन पर विचार करने कहा, कोरोना के कारण पिछले साल भी नहीं हुआ था

कांग्रेस कांग्रेस मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि तब्लीगी इज्तिमा की तारीख निकल गई है। पहले कोई घोषणा ही नहीं हुई।बीजेपी को जानकारी नहीं है तो बता दूं कि आयोजन स्थगित हो चुका है।

इसे भी पढ़ेःBIG BREAKING: केंद्रीय मंत्री सिंधिया की इंस्टाग्राम ID हैक, हैकर ने मंत्री के नाम की जगह लिखा ‘श्रेया अरोरा’

बीजेपी स्वास्थ्य विभाग के एसीएस  मोहम्मद सुलेमान उनका धर्म को देखकर उनसे ये मांग कर रहे हैं। तब्लीगी इज्तिमा कराने या नहीं कराने का फैसला राज्य सरकार होता है। उसे ही यह अधिकार है। बीजेपी नेता अगर धर्म को देखकर अगर मांग कर रहे हैं तो शाहनवाज हुसैन, मुख्तार अब्बास नकवी से भी यही मांग करनी चाहिए। सुलेमान से मांग कर धर्म का अपमान कर रहें हैं। बीजेपी ने पहले ..धर्म के आधार पर लोगों को बांटा। अब अधिकारियों को बांट रहे हैं।

इसे भी पढे़ः LIVE: टंट्या मामा के बलिदान दिवस में शामिल होने पातालपानी पहुंचे सीएम, महानायक Tantya Mama की अष्टधातु प्रतिमा का किया अनावरण

जानिए क्या है पूरा मामला 

दरअसल बीजेपी प्रवक्ता डाॅ हितेष बाजपेयी (BJP Spokesperson Dr Hitesh Bajpai) और बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा (BJP MLA Rameshwar Sharma) ने कोरोना के नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’को देखते हुए राजधानी भोपाल में होने वाले मुस्लिम समाज का दुनिया का दूसरा बड़ा धार्मिक समागम आलमी तब्लीगी इज्तिमा पर रोक लगाने की मांग की थी। दोनों ने इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के एसीएस मोहम्मद सुलेमान से आयोजन पर पुनर्विचार करने की मांग की थी।

">

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!