whatsapp

मेरा सफेद गेंद का प्रदर्शन इतना बुरा भी नहीं, आंकड़ों के सवाल पर भड़के ऋषभ पंत, जानिए क्या कहा…

स्पोर्ट्स डेस्क. सीमित ओवर के क्रिकेट में अपनी खराब फॉर्म के लिए आलोचनाओं में घिरे विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने बुधवार को कहा कि, सफेद गेंद के क्रिकेट में उनका प्रदर्शन इतना भी बुरा नहीं है. पंत इस वर्ष सीमित ओवर के क्रिकेट में खराब फॉर्म में हैं, उन्होंने छोटे प्रारूप में केवल एक अर्धशतक जड़ा है और वो भी फरवरी में वेस्टइंडीज के खिलाफ 2022 में खेली गई 21 पारियों में केवल 2 ही बार 30 रन का आंकड़ा पार कर पाए हैं.

बता दें कि, वनडे में 25 वर्षीय खिलाड़ी ने इस वर्ष 9 पारियां खेली हैं जिसमें 2 अर्धशतक और 1 शतक शामिल है. पंत ने बुधवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम वनडे से पहले कहा कि ये आंकड़े महज एक संख्या ही तो हैं. सफेद गेंद में मेरे रनों की संख्या इतनी बुरी भी नहीं है.


करियर के इस मोड़ पर तुलना में भरोसा नहीं करता
वहीं अगर तुलना की जाए तो पंत का टेस्ट प्रारूप में प्रदर्शन शानदार रहा है, जिसमें उन्होंने इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में शतक जड़े हैं. पंत ने कहा कि वह अपने करियर के इस मोड़ पर तुलना में भरोसा नहीं करते हैं. नाराज दिखे पंत ने कहा कि इस समय तुलना का कोई मतलब नहीं है, मेरी उम्र महज 24-25 वर्ष है. अगर आप तुलना करना चाहते हो तो जब मैं 30-32 वर्ष का हूंगा तब कर सकते हो. इससे पहले मेरे लिए तुलना का कोई मतलब नहीं है.

T20 अंतरराष्ट्रीय में पारी का आगाज करना पसंद करूंगा
मौजूदा सीरीज के उप-कप्तान पंत ने बुधवार को तीसरे और अंतिम वनडे में महज 10 रन बनाए. सीमित ओवर के क्रिकेट में वह किस स्थान पर बल्लेबाजी करना पसंद करेंगे तो पंत ने कहा कि मैं टी20 अंतरराष्ट्रीय में पारी का आगाज करना पसंद करूंगा, वनडे में चौथे-पांचवें नंबर पर खेलना चाहूंगा और टेस्ट में 5वें नंबर पर बल्लेबाजी कर रहा हूं.

निचले क्रम में बल्लेबाजी करने पर रणनीति बदलनी पड़ती है
पंत ने कहा कि हां, जब आप निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हो तो रणनीति बदल जाती है लेकिन साथ ही आपको उसी स्थान पर बल्लेबाजी करनी पड़ती है जिस पर टीम चाहती है. उन्होंने कहा कि वनडे में आपको पहले से रणनीति बनाने की जरूरत नहीं होती है जबकि टी20 में आपको ऐसा करना होता है.

Related Articles

Back to top button