Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

नई दिल्ली/कर्नाटक न्यूज। RSS की 3 दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की महत्वपूर्ण बैठक शुरू हो गई है. गुरुवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले ने कर्नाटक के धारवाड़ में हो रही संघ की इस अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक का उद्घाटन किया.

दिल्ली में किडनी धोखाधड़ी रैकेट में शामिल 2 लोग गिरफ्तार

 

30 अक्टूबर तक चलने वाली इस बैठक में भाजपा नेताओं समेत संघ के सभी संगठनों से जुड़े लगभग 350 प्रतिनिधि अगले 3 दिनों तक देश के राजनीतिक हालात, संघ के विस्तार और संघ की नीतियों के क्रियान्वयन से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे. संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र कुमार ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि सरसंघचालक मोहन भागवत और सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले की उपस्थिति में संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल के बैठक की शुरुआत हुई. इस बैठक में देशभर के सभी प्रांतों व क्षेत्रों के संघचालक, कार्यवाह एवं प्रचारक तथा संघ के अखिल भारतीय कार्यकारिणी मंडल के सदस्यों के अलावा संघ से जुड़े विभिन्न संगठनों के अखिल भारतीय संगठन मंत्रियों सहित लगभग 350 कार्यकर्ता शामिल हो रहे हैं.

दिल्ली में छठ पूजा के सार्वजनिक आयोजन को मंजूरी, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने दी जानकारी

संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख ने बताया कि अगले 3 दिनों तक देशभर से आए ये 350 के लगभग कार्यकर्ता संघ की वर्तमान कार्यस्थिति, संघ के विस्तार की योजना के साथ-साथ वर्तमान परिस्थितियों पर भी चर्चा करेंगे. उन्होंने बताया कि 30 अक्टूबर को शाम तक चलने वाली अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की इस बैठक में बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हुई हिंसा के खिलाफ भी एक प्रस्ताव पारित किया जाएगा.

Delhi School Reopen News: दिल्ली में 1 नवंबर से खोले जा सकेंगे सभी स्कूल, जानिए शर्तें

 

आपको बता दें कि संघ की इस 3 दिवसीय महत्वपूर्ण बैठक में देश की स्वाधीनता के 75 वर्ष होने पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव, 2025 में संघ के 100 वर्ष पूरे होने पर होने वाले कार्यक्रमों, श्री गुरु तेगबहादुर जी के 400वें प्रकाश वर्ष पर होने वाले कार्यक्रमों के साथ-साथ संघ के कार्य विस्तार, अगले 3 वर्ष की योजना और देश के वर्तमान हालात पर भी विस्तार से चर्चा की जाएगी.

कैबिनेट की मंजूरी के बाद केजरीवाल ने अयोध्या को मुख्यमंत्री तीर्थ कल्याण योजना से जोड़ा

 

बताया जा रहा है कि इस बैठक में नई शिक्षा नीति के तेजी से कार्यान्वयन और हिन्दुत्व से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी. 2022 में 5 राज्यों में विधान सभा चुनाव होने जा रहे हैं. इस लिहाज से भी संघ के इस 3 दिवसीय मंथन बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.