मंत्री प्रेमसाय सिंह ने डॉ सुनीता जैन की प्रतिनियुक्ति को बताया नियम विरुद्ध, कहा- एक साल के लिए आई थी, और 7 साल तक जमी रही…

सत्यपाल राजपूत, रायपुर. स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेम साय सिंह ने शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद छत्तीसगढ़ के अतिरिक्त संचालक सुनीता जैन के भोपाल वापसी पर बयान दिया है. मंत्री ने कहा कि डॉक्टर सुनीता जैन को जयशंकर शिक्षा महाविद्यालय बालाघाट से ही प्रतिनियुक्ति पर छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग में एक साल के लिए लाया था, लेकिन लगभग सात सालों से वो यहां अलग-अलग पदों पर कार्य करती रही, जो बिलकुल नियम के विरुद्ध है, इसको ध्यान में रखते हुए डॉक्टर सुनीता जैन को उनके मूल शिक्षा विभाग भोपाल भेज दिया गया है.

Close Button

शिक्षा मंत्री ने बताया कि सबसे पहले प्रतिनियुक्ति पर अतिरिक्त संचालक राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान रायपुर के लिए लाया गया था और उसके बाद उसके बाद प्रतिनियुक्ति पर ही है. उप संचालक के पद पर लोक शिक्षण संचालनालय रायपुर में पदस्थ किया गया था फिर भी राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद छत्तीसगढ़ रायपुर में अतिरिक्त संचालन के पद पर पदस्थ किया गया था जो बिलकुल नियम के विरुद्ध है. नियमों को ध्यान में रखते हुए इसको शिक्षा विभाग ने वापस भेज दिया है. इसके आगे की कार्रवाई करते हुए छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा राज्यपाल के नाम आदेशानुसार प्रमुख सचिव मध्य प्रदेश शासन उस शिक्षा विभाग मंत्रालय वल्लभ भवन भोपाल और आयुक्त उच्च शिक्षा विभाग मध्य प्रदेश सतपुड़ा भवन भोपाल को पत्र भेजा गया है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
 
धन्यवाद, लल्लूराम डॉट कॉम के साथ सोशल मीडिया में भी जुड़ें। फेसबुक पर लाइक करें, ट्विटर पर फॉलो करें एवं हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें।