Contact Information

Four Corners Multimedia Private Limited Mossnet 40, Sector 1, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh - 492007

लखनऊ. बीजेपी से निलंबित हो चुकीं पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा पर सुप्रीम कोर्ट की तीखी टिप्पणी के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने इस फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि कोर्ट का यह आदेश सभी के लिए सबक है जो इस तरह के बयान देकर देश का माहौल बिगाड़ने का प्रयास करते हैं. वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर लिखा कि सिर्फ मुख को ही नहीं शरीर को भी माफी मांगनी चाहिए. देश में शांति और सौहार्द बिगाड़ने की सजा भी मिलनी चाहिए.

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने ट्वीट कर कहा कि ‘माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा नूपुर शर्मा के विरुद्ध आज लिए गए सख्त स्टैंड तथा अपने भड़काऊ बयान से देश को हिंसक माहौल में झोंकने हेतु उनसे माफी मांगने का निर्देश उन सभी के लिए जरूरी सबक है, जो देश को सांप्रदायिकता की आग में झोंक कर अपनी राजनीति चमका रहे हैं.’ उन्होंने अपने सिलसिलवर ट्वीट में लिखा है कि ‘साथ ही, नफरती भाषण के लिए नूपुर शर्मा के विरुद्ध एफआईआर होने के बावजूद पुलिस द्वारा उनके प्रति निष्क्रिय रवैये का भी मा. कोर्ट द्वारा संज्ञान लेने से संभव है कि आगे इस प्रकार की प्रवृति पर थोड़ा रोक लगे.’

अखिलेश यादव ने सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी आने के बाद शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि ‘सिर्फ़ मुख को नहीं शरीर को भी माफ़ी मांगनी चाहिए और देश में अशांति और सौहार्द बिगाड़ने की सज़ा भी मिलनी चाहिए.’

इसे भी पढ़ें – BIG BREAKING: नुपुर शर्मा के विवादित बयान पर मचा बवाल, पत्थरबाजी, लाठीचार्ज और फायरिंग के बाद रांची में लगा कर्फ्यू

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा की ओर से दाख‍िल की गई याच‍िका की सुनवाई की. शुक्रवार को कहा कि ‘इस प्रकार के बयान देने से उनका क्या मतलब है. इन बयानों के कारण देश में दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुईं. ये लोग धार्मिक नहीं हैं. वे अन्य धर्मों का सम्मान नहीं करते. ये टिप्पणियां या तो सस्ता प्रचार पाने के लिए की गईं अथवा किसी राजनीतिक एजेंडे या घृणित गतिविधि के तहत की गईं.

छतीसगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक 
मध्यप्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेश की खबरें पढ़ने यहां क्लिक करें
दिल्ली की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
लल्लूराम डॉट कॉम की खबरें English में पढ़ने यहां क्लिक करें
खेल की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
मनोरंजन की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक